लॉकडाउन: रेल कर्मचारियों को पुलिस ने रोका, रेलवे ने कहा- ऐसे मत करो!

| March 26, 2020

देश के करीब-करीब सभी हिस्सों में लॉकडाउन होने के बाद अब ऑन ड्यूटी रेलवे कर्मचारियों को परेशानी हो रही है. लॉकडाउन के दौरान पुलिस रेलवे कर्मचारियों को उनके कार्यस्थल तक नहीं जाने दे रही है.

  • रेलवे ने कहा कि कर्मचारियों को फील्ड में हो रही है दिक्कत
  • सभी यात्री ट्रेनें रद्द हैं, लेकिन मालगाड़ियां अभी भी चल रहीं








देश के करीब-करीब हिस्सों में लॉकडाउन होने के बाद अब ऑन ड्यूटी रेलवे कर्मचारियों को परेशानी हो रही है. लॉकडाउन के दौरान पुलिस रेलवे कर्मचारियों को उनके कार्यस्थल तक नहीं जाने दे रही है. जिसके बाद अब रेलवे ने प्रशासन से अपील की है कि जो कर्मचारी जरूरी सामानों के परिवहन में शामिल हैं, उन्हें आने की अनुमति दें.




देश भर में रेल सेवा पूरी तरह से बंद

रेलवे ने एक बयान में कहा कि सभी मीडिया समूहों की ओर से कहा गया कि पूरी रेल सेवा बंद कर दी गई है, ऐसे में हमारे कर्मचारियों को फील्ड में दिक्कत हो रही है, क्योंकि पुलिस और प्रशासन उन्हें कार्यस्थल तक नहीं आने दे रही है, जबकि जरूरी सामानों का परिवहन मालगाड़ियों के द्वारा हो रहा है और उसके लिए ढांचागत तौर पर काम करने वाले स्टाफ की जरूरत है.

रेलवे ने कहा, ‘जरूरी वस्तुओं की सप्लाई सुनिश्चित करने के लिए रेलवे सातों दिन 24 घंटे काम कर रहा है. भले ही सभी यात्री ट्रेनें रद्द हैं लेकिन मालगाड़ियां चल रही हैं.




रेलवे कर्मचारियों को ना रोकने की अपील

रेलवे ने यह भी कहा, ‘अनाज, कोयला, दूध, सब्जियां बहुत जरूरी हैं और इनकी पूरे देश में आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए हम काम कर रहे हैं. हम अगले कुछ महीनों के लिए अपनी जिम्मेदारियों को अच्छी तरह समझ रहे हैं,’ रेलवे का यह बयान तब आया है जब देश के विभिन्न जिलों में उसके कर्मचारियों को स्थानीय प्रशासन द्वारा रोका गया.

गौरतलब है कि रेलवे ने कोविड-19 महामारी को फैलने से रोकने के लिए अपनी 13,600 पैसेंजर, मेल और एक्सप्रेस यात्री ट्रेनों को 31 मार्च तक रोक दिया है. इस बीच जरूरी सामानों की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए मालगाड़ियां पूरे देश में दौड़ रही हैं.

Category: News

About the Author ()

Comments are closed.