कोरोना वायरस : अब 14 अप्रैल तक नहीं चलेगी कोई ट्रेन, रेलवे ने बढ़ाई मियाद

| March 25, 2020

हाइलाइट्स

  • कोरोना वायरस के प्रकोप के मद्देनजर रेलवे ने यात्री सेवाओं को बंद रखने की अवधि बढ़ाई
  • रेलवे ने मंगलवार को घोषणा में कहा कि अब 14 अप्रैल तक बंद रहेंगी यात्री सेवाएं
  • इससे पहले रेलवे ने 31 मार्च तक यात्री सेवाओं को बंद करने की घोषणा की थी
  • पीएम मोदी ने 21 दिनों के देशव्यवापी लॉकडाउन की मंगलवार को की है घोषणा









कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के मद्देनजर रेलवे ने मंगलवार को घोषणा की है कि उसकी मेल, एक्सप्रेस तथा पैसेंजर सेवाएं अब 14 अप्रैल तक बंद रहेगी। देशभर में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों पर लगाम लगाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 21 दिनों के देशव्यापी लॉकडाउन की घोषणा के बाद रेलवे का यह कदम सामने आया है। अधिकारियों ने हालांकि कहा है कि देशभर में मालगाड़ी की सेवा बरकरार रहेगी।




ऑनलाइन बुकिंग का पैसा खुद मिलेगा
इससे पहले, रेलवे ने 22 मार्च से लेकर 31 मार्च तक मालगाड़ी छोड़कर सभी पैसेंजर और मेल एक्सप्रेस को बंद करने का फैसला किया था। इस निलंबन में सभी उपनगरीय ट्रेन सेवाएं भी शामिल हैं। इस बीच, भारतीय रेलवे खानपान और पर्यटन निगम (आईआरसीटीसी) ने लोगों से कहा है कि वे ट्रेनों की ऑनलाइन बुक की गई टिकटों को रद्द न करें और उन्हें खुद ही पूरा पैसा मिल जाएगा।




जरूरी वस्तुओं की निर्बाध आपूर्ति
भारतीय रेलवे ने मंगलवार को कहा कि कोरोना वायरस से संक्रमण की वजह से सभी यात्री सेवाओं को निलंबित करने के लिए बाध्य होने के बावजूद वह देश में आवश्यक वस्तुओं की निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित कर रहा है। रेलवे ने बताया कि 23 मार्च को अनाज, नमक, खाद्य तेल, चीनी, दूध, फल और सब्जियां, प्याज, कोयला और पेट्रोलियम उत्पादों के 474 रैक तैयार किए गए।

कोरोना से लड़ाई में रेलवे सरकार के साथ
रेलवे बोर्ड ने कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में योगदान के लिए अपनी सभी निर्माण इकाइयों को निर्देश जारी कर अस्पताल के सामान्य बेड, मेडिकल ट्रॉली और पृथक सुविधाएं तथा आईवी स्टैंड जैसी चीजों के निर्माण की संभावना का पता लगाने को कहा है।

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.