सातवाँ वेतन आयोग – केंद्रीय कर्मचारियों को किस शहर में कितना मिलता है ट्रांसपोर्ट अलाउंस, जानिए डिटेल में

| March 12, 2020

ट्रांसपोर्ट अलाउंस को सरकार पे मैट्रिक्स लेवल के आधार पर तीन वर्गों में बांटा है। शहरों और कस्बों को दो वर्गों में बांटा गया है। यह क्लासिफिकेशन शहरों की आबादी के आधार पर किया गया है।

केंद्र सरकार के सभी कर्मचारियों को ट्रांसपोर्ट अलाउंस की सुविधा दी जाती है। यह अलाउंस कर्मचारियों को घर से दफ्तर आने और दफ्तर से घर तक जाने के नाम पर दिया जाता है। हालांकि यह भत्ता सभी कर्मचारियों को समान रूप से नहीं मिलता। केंद्र सरकार की ओर इसका वर्गीकरण शहरों के आधार पर किया गया है। आइए जानते हैं, कैसे होता है ट्रांसपोर्ट अलाउंस का कैलकुलेशन और किस शहर के लिए मिलता है कितना भत्ता…








जानें, कैसे होता है टीए का कैलकुलेशन: ट्रांसपोर्ट अलाउंस को सरकार पे मैट्रिक्स लेवल के आधार पर तीन वर्गों में बांटा है। शहरों और कस्बों को दो वर्गों में बांटा गया है। यह क्लासिफिकेशन शहरों की आबादी के आधार पर किया गया है। पहली कैटिगरी है, हायर ट्रांसपोर्ट अलाउंस शहर और दूसरी है अन्य शहरों की श्रेणी।




जानें, किसे मिलता है कितना ट्रैवल अलाउंस: किसी एक कैटिगरी के कर्मचारियों को मिलने वाले ट्रांसपोर्ट अलाउंस की दर एक समान है। बस उसमें उन्हें मिलने वाले डीए को जोड़ दिया जाता है। हायर ट्रांसपोर्ट अलाउंस वाले शहरों के लिए लेवल 9 और उससे ऊपर के कर्मचारियों को 7,200 रुपये ट्रांसपोर्ट अलाउंस और डीए मिलता है। अन्य शहरों के लिए यह भत्ता 3,600 रुपये और डीए है। इसी तरह लेवल 3 से 8 तक के कर्मचारियों को 3,600 प्लस डीए और 1,800 प्लस डीए मिलता है। लेवल 1 और 2 की बात की जाए तो इस कैटिगरी के लिए 1,350 प्रथम श्रेणी शहरों के लिए और महंगाई भत्ता मिलता है, जबकि अन्य शहरों के लिए 900 रुपये प्लस डीए मिलता है।




इन 19 शहरों को रखा गया है पहली श्रेणी में: केंद्रीय कर्मचारियों को मिलने वाले ट्रांसपोर्ट अलाउंस के लिहाज से 19 शहरों को ए कैटिगरी में विभाजित किया गया है। इन शहरों में दिल्ली, अहमदाबाद, बेंगलुरु, चेन्नै, कोयंबटूर, गाजियाबाद, ग्रेटर मुंबई, हैदराबाद, इंदौर, जयपुर, कानपुर, कोच्चि, कोलकाता, कोझीकोडस, लखनऊ, नागपुर, पटना, पुणे और सूरत शहर शामिल हैं। इनके अलावा बाकी शहरों को अन्य की श्रेणी में डाला गया है।

कार फैसिलिटी वालों को कितना मिलता है TA: ऐसे कर्मचारी जिन्हें कार की सुविधा मिली हुई है, उन्हें प्रति महीने 15,750 रुपये प्लस डीए का भुगतान किया जाता है। कार की सुविधा पे लेवल 14 और उससे अधिक वाले कर्मचारियों को मिलती है।

Source:- JS

Category: Seventh Pay Commission

About the Author ()

Comments are closed.