इनकम टैक्स / पुराने स्लैब में 12 लाख तक की आय टैक्स फ्री हो सकती है, इतनी आय पर नए स्लैब में 1.20 लाख रुपए टैक्स लगेगा

| February 1, 2020
  • पुराने विकल्प में 5 से 7 लाख रुपए तक की आय पर 20% टैक्स, नई व्यवस्था में 10% टैक्स
  • 5 लाख रुपए तक की आय टैक्स फ्री, इससे ज्यादा इनकम है और नया विकल्प चुनेंगे तो डिडक्शन का फायदा नहीं मिलेगा

सरकार ने पहली बार इनकम टैक्स स्लैब चुनने के दो विकल्प दिए हैं। नई व्यवस्था में 5 लाख से 7.5 लाख रुपए तक की आय पर 20% की बजाय 10% टैक्स लगेगा। लेकिन, करीब 100 में से 70 डिडक्शन घटा दिए हैं। ऐसे में पुराने विकल्प में 12.05 लाख रुपए तक की आय टैक्स फ्री हो सकती है, लेकिन इतनी आय पर नए स्लैब के मुताबिक 1 लाख 20 हजार 640 का टैक्स लगेगा।








पुराने स्लैब का विकल्प चुनकर सभी डिडक्शन लेते हैं तो 12.05 लाख रुपए तक की इनकम पर टैक्स नहीं लगेगा

स्टैंडर्ड डिडक्शन 50 हजार रुपए
45 लाख तक के मकान के होम लोन पर ब्याज 3.50 लाख रुपए
80सी के तहत बचत योजनाओं में निवेश 1.50 लाख रुपए
एनपीएस 50 हजार रुपए
मेडिकल इंश्योरेंस (सेल्फ) 25 हजार रुपए
मेडिकल इंश्योरेंस (पैरेंट्स) 30 हजार रुपए
एजुकेशन लोन 50 हजार रुपए
कुल डिडक्शन 7.05 लाख रुपए
बाकी 5 लाख की आय पर टैक्स नहीं, इसलिए जीरो टैक्स




नई व्यवस्था में कोई डिडक्शन नहीं मिलेगा, 12.05 लाख रुपए की आय पर टैक्स इस प्रकार लगेगा-

2.5 लाख रुपए टैक्स फ्री
2.5 लाख से 5 लाख 5% (12,500 रुपए)
5 लाख से 7.5 लाख 10% (25,000 रुपए)
7.5 लाख से 10 लाख 15% (37,500 रुपए)
बाकी 2.05 लाख पर 20% (41,000 रुपए)
टैक्स : 1 लाख 16 हजार रुपए
4% सेस : 4,640 रुपए
कुल टैक्स: 1 लाख 20 हजार 640 रुपए




कौन-कौन से प्रमुख डिडक्शन खत्म?

  • 50 हजार रुपए का स्टैंडर्ड डिडक्शन
  • दो बच्चों की ट्यूशन फीस
  • 80सी (इंश्योरेंस प्रीमियम)
  • 80सीसीसी (पेंशन फंड में योगदान)
  • 80डी (हेल्थ इंश्योरेंस)
  • 80ई (हायर एजुकेशन के लोन पर ब्याज का भुगतान)
  • 80ईई (हाउस लोन पर ब्याज का भुगतान)
  • 80ईईबी (इलेक्ट्रिक व्हीकल की खरीदने पर डिडक्शन)
  • 80जी (डोनेशन)
  • हाउस रेंट
  • लीव ट्रैवल अलाउंस
  • अलाउंस फॉर इनकम ऑफ माइनर

Category: News

About the Author ()

Comments are closed.