अब रेल यात्रियों की हर परेशानी में काम आएगा हेल्पलाइन नंबर 139

| January 3, 2020

रेलवे की विभिन्न सेवाओं के लिए अब अलग-अलग नंबरों को याद रखने की जरूरत नहीं होगी। अब रेल यात्र के दौरान 139 नंबर ही सभी प्रकार की समस्या, शिकायत, सुझाव और सूचना हासिल करने के काम आएगा। हालांकि, रेलवे की सुरक्षा से संबंधित हेल्पलाइन नंबर 182 का अस्तित्व बना रहेगा।








रेलवे की तरफ से गुरुवार को जारी बयान के अनुसार, एकीकृत हेल्पलाइन नंबर 139 पर 12 भाषाओं में संवाद किया जा सकता है और यह इंटरैक्टिव वॉयस रिस्पांस सिस्टम (आइवीआरएस, कंप्यूटरीकृत संवाद प्रणाली) पर आधारित होगा। इस हेल्पलाइन नंबर पर किसी भी प्रकार के फोन से कॉल किया जा सकता है। यानी, सभी प्रकार के मोबाइल फोन उपभोक्ताओं के लिए यह सुविधा सहज उपलब्ध होगी।




बयान के अनुसार सुरक्षा और चिकित्सा संबंधी सहायता के लिए यात्री को मोबाइल में उपलब्ध 1 नंबर का बटन दबाना होगा। इससे यात्री की कॉल तत्काल कॉल सेंटर के कर्मचारी के पास चली जाएगी। पूछताछ के लिए यात्री को 2 नवंबर का बटन दबाना होगा। इसके बाद यात्री को कुछ विकल्प बताए जाएंगे, जिसे वह अपनी जरूरत के मुताबिक चुन सकता है। खानपान से संबंधित शिकायत के लिए यात्री को 3 नंबर का बटन दबाना होगा, जबकि सामान्य शिकायतों का नंबर 4 होगा।




इसी प्रकार सतर्कता संबंधी शिकायत के लिए यात्री को 5 व दुर्घटना की स्थिति में जानकारी हासिल करने के लिए 6 नंबर का बटन दबाना होगा। शिकायत की स्थिति के बारे में जानकारी हासिल करने के लिए यात्री को 9 नंबर का बटन दबाने के बाद स्टार का बटन दबाना होगा, जिसके बाद उसकी कॉल सेंटर के कर्मचारी से बात हो सकेगी।

इससे पहले यात्रियों को रेलवे की सामान्य शिकायतों को दर्ज कराने के लिए 138, हादसा व सुरक्षा के लिए 1072, कोचों की सफाई के लिए 5888/138, सतर्कता के लिए 152210 व कैटरिंग सेवा के लिए 1800111321 आदि का इस्तेमाल करना पड़ता था। अब इन नंबरों को समाप्त कर दिया जाएगा।

रेलवे ने जारी किया एकीकृत हेल्पलाइन नंबर, सभी प्रकार के मोबाइल फोन उपभोक्ताओं के लिए यह सुविधा उपलब्ध होगी

Category: News

About the Author ()

Comments are closed.