सातवाँ वेतन आयोग – न्यू ईयर पर इन कर्मचारियों को मिलेगी बढ़कर सैलरी, प्रमोशन पर फैले भ्रम को केंद्र सरकार ने किया दूर

| December 26, 2019

सरकार ने साफ किया है कि इंक्रीमेंट की डेट 1 जुलाई नहीं मानी जाएगी। यानि की कर्मचारियों को यह इंक्रीमेंट 6 महीने की सर्विस पूरी करने के बाद ही मिलेगा।

केंद्रीय कर्मचारियों के प्रमोशन की स्थिति में मिलने वाले इन्क्रीमेंट की समय सीमा पर कन्फ्यूजन को दूर कर दिया है। कर्मचारियों के बीच यह कन्फ्यूजन था कि प्रमोशन पाने के बाद इंक्रीमेंट की डेट क्या मानी जाए। इसी कन्फ्यूजन को दूर करते हुए सरकार ने बताया है कि अगर किसी कर्मचारी को 2 जनवरी से 30 जून के बीच प्रमोशन मिला है तो उसे 1 जनवरी से इंक्रीमेंट मिलेगा। सरकार ने साफ किया है कि इंक्रीमेंट की डेट 1 जुलाई नहीं मानी जाएगी। यानि की कर्मचारियों को यह इंक्रीमेंट 6 महीने की सर्विस पूरी करने के बाद ही मिलेगा।








बता दें कि सरकारी विभाग के एक्‍सपेंडिचर डिपार्टमेंट के मुताबिक अगर किसी कर्मचारी का प्रमोशन तय तारीख से पहले या बाद में होता है तो उसे 6 महीने की सर्विस पूरी करने के बाद ही इंक्रीमेंट मिलेगा। चाहे वह एक जनवरी हो या फिर एक जुलाई । एक जनवरी और एक जुलाई की यह डेट इस बात पर निर्भर करेगी कि कौन सी तारीख पहले पड़ती है। यानि की किस कर्मचारी को प्रमोशन किस टाइम पीरियड पर मिला है। मालूम हो कि सरकार कर्मचारियों को ‘प्रमोशन की तारीख’ (DoP) या इंक्रीमेंट की अगली तारीख चुनने के दो विकल्प देती है। इन्हीं विकल्पों के आधार पर ही कर्मचारियों को फायदे दिए जाते हैं।




बता दें कि पहले नियम था कि कर्मचारियों को 10, 20 और 30 साल की सर्विस पूरी होने पर प्रमोशन दे दिया जाता था लेकिन अब प्रमोशन प्रदर्शन पर आधारित कर दिया गया है। यानि की कर्मचारी के बेहतर प्रदर्शन पर उसे समय से पहले कभी भी प्रमोशन दिया जा सकता है। एकतरफ जहां सरकार ने प्रमोशन पर इंक्रीमेंट की डेट के भ्रम को दूर किया है तो वहीं 50 लाख से ज्यादा केंद्रीय कर्मचारियों मांग अभी तक अधूरी हैं।




कर्मचारियों की मांग है की है कि मोदी सरकार फिटमेंट फैक्टर बढ़ाए और न्यूनतम मूल वेतन के रूप में 26,000 रुपए वेतन दे। अगर सरकार इस पर मुहर लगाती है तो केंद्र की सैलरी में 8000 रुपए तक की बढ़ोतरी होगी। कर्मचारी न्यूनतम वेतन में बढ़ोतरी के अलावा फिटमेंट फैक्टर में भी इजाफा चाहते हैं। मौजूदा फिटमेंट फैक्टर 2.57 गुणा है, जबकि वे इसे 3.68 गुणा करने की मांग की जा रही है।

Category: News

About the Author ()

Comments are closed.