सातवाँ वेतन आयोग – अगले सप्ताह केंद्रीय कर्मचारियों को मिल सकता है तोहफा, बढ़ जाएगी 21,000 तक सैलरी!

| November 25, 2019

7th Pay Commission: केंद्रीय कर्मचारी लंबे समय से न्यूनत वेतन को 26,000 रुपए प्रति महीने करने की मांग कर रहे हैं। वर्तमान मे कर्मचारियों को 18,000 प्रति माह मिलते हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार केंद्रीय कर्मचारियों को जल्द ही बड़ा तोफहा दे सकती है। विभिन्न मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस महीने के आखिर तक 50 लाख केंद्रीय कर्मचारियों की सैलरी में भारी बढ़ोतरी हो सकती है। बताया जाता है कि केंद्रीय कर्मचारियों की सैलरी में बढ़ोतरी का फैसला अगली कैबिनेट मीटिंग में लिया जा सकता है। बता दें कि भारतीय रेलवे के नॉन गैजेटेड मेडिकल कर्मचारियों की सैलरी में सातवें वेतन आयोग के तहत 21,000 रुपए तक का इजाफा होगा।








इसी तरह भारतीय रेलवे में नॉन गैजेटेड मेडिकल स्टाफ के पद पर कार्यरत कर्मचारियों को प्रमोशन का फायदा भी मिल सकता है। मामले में ऑल इंडिया रेलवे माइंस फेडरेशन के सचिव शिव गोपाल मिश्रा ने कहा, ‘कर्माचारी लंबे समय से प्रमोशन की मांग कर रहे हैं। सातवें वेतनमान के तहत प्रमोशन मिलते ही भारतीय रेलवे के नॉन गैजेटेड मेडिकल स्टाफ की सैलरी में बंपर इजाफा होगा।’





जानना चाहिए कि सातवें वेतन आयोग के कहत नॉन गैजेटेड मेडिकल स्टाफ की सैलरी में कम से कम 5,000 रुपए प्रति महीने की बढ़ोतरी होगी। इससे कर्मचारियों के एचआरए, डीए और टीए में भी बढ़ोतरी होगी। ऐसे में कुल मिलाकर कर्मचारियों की सैलरी में पांच हजार से इक्कीस हजार रुपए तका का इजाफा होगा। रेलवे ने नॉन गैजेटेड मेडिकल स्टाफ जैसे लैब स्टाफ, हेल्थ एंड मलेरिया इंस्पेक्टर, स्टाफ नर्स, फिजियोथैरेपिस्ट, रेडियोग्राफर, फार्मासिस्ट, डाइटिशियन और फेमिली वेलफेयर आर्गेनाइजेशन कर्मचारियों की सैलरी में बढ़ोतरी को मंजूरी दी है।




गौरतलब है कि केंद्रीय कर्मचारी लंबे समय से न्यूनत वेतन को 26,000 रुपए प्रति महीने करने की मांग कर रहे हैं। वर्तमान मे कर्मचारियों को 18,000 प्रति माह मिलते हैं। न्यूनतम वेतन में बढ़ोतरी की मांग के साथ ही केंद्रीय कर्मचारी फिटमेंट फैक्टर को बढ़ाने की मांग कर रहे हैं। अभी केंद्रीय कर्मचारियों को 2.57 फीसदी फिटमेंट फैक्टर मिलता है। इसे बढ़ाकर 3.68 फीसदी की मांग की गई है।

Source:- Jansatta

Category: News

About the Author ()

Comments are closed.