निजीकरण की तरफ रेलवे की छलांग – तेजस के साथ नए युग में रेलवे के कदम

| October 5, 2019

नारंगी और काले रंग के विशेष परिधान में केबिन क्रू सदस्यों (ट्रेन होस्टेस) की मुस्कान..उन्ही के हाथों हर यात्री को तिलक लगा और फूलों की माला पहनाकर आतिथ्य सत्कार भी। यात्री सीट पर बैठे ही थे कि वेलकम डिंक पेश की गई। सीट के ऊपर लगा बटन दबाते ही ‘ट्रेन होस्टेस’ सेवा में हाजिर। यह दृश्य है देश की पहली कॉरपोरेट ट्रेन का, जिसे शुक्रवार सुबह 9:55 बजे लखनऊ जंक्शन से उप्र के मुख्यमंत्री योगी अदित्यनाथ ने रवाना किया।








तेजस के पहले सफर में एक्जीक्यूटिव क्लास में 48 और चेयरकार में 408 यात्री थे। हर सीट पर टूरिस्ट मैगजीन थी। ट्रेन के चलते ही हर सीट पर नारंगी रंग के नए कलेवर में रेल नीर की बोतल और गिलास दिए गए। पहली बार किसी ट्रेन में बायोडिग्रेडेबल प्लास्टिक बोतल का इस्तेमाल किया गया है। वाई-फाई ने बिना देरी के यात्रियों को इंटरनेट से कनेक्ट कर दिया। टेन 11:04 बजे कानपुर पहुंची और शाम चार बजे नई दिल्ली। पहले सफर को यादगार बनाने के लिए आइआरसीटीसी के एमडी एमपी मल ने हर यात्री को उपहार में छाता और चाबी का गुच्छा भेंट किया। रेलवे बोर्ड चेयरमैन विनोद कुमार यादव ने कहा कि आने वाले समय में 50 कारपोरेट ट्रेनें चलेंगी।




ट्रेन में मना तेजस का बर्थडे : यह ‘तेजस’ का जन्म था और इसी ट्रेन के सात वर्षीय यात्री तेजस श्रीवास्तव का जन्मदिन भी। इस संयोग ने यात्रियों का मजा दोगुना कर दिया। बीच सफर में केक काटकर तेजस श्रीवास्तव का जन्मदिन मनाया गया। भविष्य में भी यात्रियों का इसी तरह जन्मदिन मनाया जाएगा। तेजस में पांच बोगियों पर उप्र के महत्वपूर्ण पर्यटन स्थलों की जानकारी होगी। हर बोगी की अलग थीम होगी।

तेजस इसलिए कारपोरेट : इस ट्रेन का ऑपरेशन, गार्ड व ड्राइवर रेलवे के होंगे। वहीं, ट्रेन की टिकटिंग, पार्सल व अन्य सभी व्यावसायिक कामकाज व यात्री सुविधाओं का जिम्मा आइआरसीटीसी का होगा। आइआरसीटीसी हर साल रेलवे को हॉलेज शुल्क (टूरिस्ट ट्रेन चलाने वाली एजेंसियों से रेलवे द्वारा लिया जाने वाला शुल्क) देगा।

पहला सफर विशेष पेज 15




उप्र के सीएम योगी ने तेजस को हरी झंडी दिखा रवाना किया ’

यह होंगे नियम

’ रिफंड टीडीआर से नहीं, आइआरसीटीसी करेगा

’ व्यस्त, त्योहार, लीन सीजन के आधार परडायनामिक फेयर

’ फरवरी, मार्च, अगस्त लीन सीजन, किराया कम होगा

सुहाना सफर

’ फ्लाइट की तरह ट्रेन होस्टेस करेंगी आवभगत

’ यात्रियों का मुफ्त 25 लाख रुपये का बीमा

’ सफर के दौरान घर में चोरी हुई तो एक लाख का बीमा

यह होगी कैटरिंग सुविधा

लखनऊ से नई दिल्ली

सुबह 6:30 बजे: चाय व कुकीज

8:00 बजे: हैवी ब्रेकफास्ट

11:00 बजे: चाय-कॉफी, जूस, अल्पाहार

नई दिल्ली से लखनऊ

शाम 04:00 बजे: चाय, नाश्ता

शाम 07:00 : डिनर

यूं तय होगा किराया : तेजस में विमान की तरह डायनमिक किराया होगा, जो सीट की बुकिंग के हिसाब से घटेगा-बढ़ेगा। इसका न्यूनतम किराया भी रखा गया है।

लखनऊ-नई दिल्ली न्यूनतम किराया

चेयरकार : 1125 रुपये (185 रुपये कैटरिंग चार्ज सहित )

एक्जीक्यूटिव क्लास : 2310 रुपये

नई दिल्ली-लखनऊ

चेयरकार : 1280 रुपये (340 रुपये कैटरिंग चार्ज )

Tags: , , ,

Category: News

About the Author ()

Comments are closed.