कोल इंडिया के 5000 कर्मियों को दिया जाएगा चरणबद्ध वीआरएस

| September 27, 2019

कोल इंडिया से संबद्ध सभी कंपनियों में स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना (वीआरएस) लाने का प्रस्ताव है। चरणबद्ध तरीके से पांच हजार अफसर एवं कर्मचारियों को वीआरएस मिलेगा। पहले चरण में ईसीएल के 700 कर्मचारियों को वीआरएस देने की तैयारी है। अगली कड़ी में बीसीसीएल में भी वीआरएस लेने लायक कर्मचारियों की संख्या के बाबत आकलन शुरू कर दिया गया है।








प्रस्ताव के मुताबिक वीआरएस के दायरे में उन कर्मचारियों को लाया जाएगा जो 33 साल नौकरी कर चुके हैं। उन कर्मचारियों को भी स्वैच्छिक सेवानिवृति योजना का लाभ दिया जाएगा जिनकी उम्र 55 साल पार है। कोल इंडिया का आकलन है कि कई अफसर एवं कर्मचारी अब कई कारणों से पूरा योगदान नहीं दे पा रहे हैं। कई कर्मचारी खुद को नौकरी से अलग करना चाहते हैं, बशर्ते उनका भविष्य सुरक्षित किया जाए। वीआरएस के दायरे में शारीरिक रूप से लाचार, खराब प्रदर्शन करनेवाले एवं दागदार लोगों को भी लाया जाएगा। इसके लिए सभी कंपनियों ने अलग-अलग ड्राफ्ट तैयार कर स्वीकृति के लिए कोल इंडिया मुख्यालय को भेजा है। कोल इंडिया में 2.92 लाख लोग कार्यरत हैं।




सेवानिवृत्ति अवधि तक हर माह के लिए 45 दिन का वेतन मिलेगा : वीआरएस के बाद बेहतर भविष्य के लिए जो प्रस्ताव तैयार किया गया है, उसके मुताबिक सेवानिवृत्ति अवधि तक हर माह के लिए 45 दिन के वेतन की राशि जोड़ी जाएगी। उसे एकमुश्त दिया जाएगा। बीसीसीएल प्रबंधन का आकलन है कि अभी जरूरत से ज्यादा 3598 अधिक कर्मचारी कार्यरत हैं।

वीआरएस से संबंधित प्रस्ताव तैयार कर कोल इंडिया को भेजा गया है। जैसा दिशा निर्देश मिलेगा, उस अनुरूप कार्रवाई की जाएगी।

आरएस महापात्र, निदेशक (कार्मिक), बीसीसीएल

ईसीएल में स्वैच्छिक सेवानिवृति योजना के दायरे में 700 कर्मचारियों को लाया जा सकता है। अंतिम निर्णय शीर्ष प्रबंधन लेगा। कोल इंडिया को प्रस्ताव भेजा जा चुका है।




डॉक्टर हरेंद्र केसरी, महाप्रबंधक (कार्मिक), ईसीएल

33 साल तक जो कर्मचारी नौकरी कर चुके, उन्हें मिलेगा वीआरएस, बीसीसीएल में 3598 कर्मचारी सरप्लस

कोलकर्मियों के बोनस पर एक अक्टूबर को दिल्ली में बैठक

जासं, धनबाद : 2.92 लाख कोलकर्मियों के बोनस को लेकर एक अक्टूबर को दिल्ली में बैठक बुलाई गई है। चारों श्रम संगठनों को बुलाया गया है। पूजा से पहले बोनस कर्मियों के खाते में जाएगा। गत वर्ष 60500 रुपये बोनस के रूप में मिले थे। इस वर्ष कोल इंडिया का मुनाफा बढ़ा है। इस अनुपात में अधिक बोनस की मांग की जाएगी।

Category: News

About the Author ()

Comments are closed.