पुरानी पेंशन बहाली मामले में शासन की राय मांगी

| September 21, 2019

बेसिक शिक्षा परिषद के वित्त नियंत्रक ने अप्रैल-2005 के बाद नियुक्त शिक्षकों की जीपीएफ कटौती और पुरानी पेंशन बहाली के संबंध में शासन से दिशा निर्देश मांगा है। साथ ही इसमें शासन से नीतिगत फैसला करने का अनुरोध किया है।

विभाग में कई ऐसे मामले हैं जिनमें अभ्यर्थियों का चयन 2004 में हुआ लेकिन उन्हें प्रशिक्षित कर तैनाती अप्रैल 2005 के बाद दी गई। वहीं विशिष्ट बीटीसी 2004-05 के कई हजार ऐसे अभ्यर्थी हैं, जिनकी चयन प्रक्रिया 2004 में शुरू हुई लेकिन प्रशिक्षण पूरा कर तैनाती अप्रैल 2005 के बाद दी गई। वहीं कई ऐसे मृतक आश्रित भी हैं जिन्हें नियुक्ति अप्रैल 2005 के बाद मिली है। इन सब मामलों ने लखनऊ व इलाहाबाद हाईकोर्ट में दर्जनों याचिकाएं दायर हुईं। कई मामलो में हाईकोर्ट ने जीपीएफ कटौती और पुरानी पेंशन बहाली के आदेश दिए हैं।








प्रदेश सरकार की नई पेंशन नीति में पहली अप्रैल, 2005 के बाद नियुक्त शिक्षकों या राज्य कर्मचारियों को पुरानी पेंशन या जीपीएफ कटौती का का प्रावधान नहीं है। लिहाजा इस मामले में शासन की राय मांगी गई है। बेसिक शिक्षा परिषद के वित्त नियंत्रक ने कहा है कि विभिन्न जिलों से इस मामले में राय मांगी जा रही है। इसके लिए शासन की गाइडलाइन देखी जाएगी।




29 को रांची में पुरानी पेंशन समिति दिखाएगी ताकत

शनिवार को पुरानी पेंशन बहाल समिति की ओर से विभिन्न संगठन के पदाधिकारियों की बैठक प्रखंड सभागार में आयोजित की गई। बैठक में कहा गया कि 29 सितंबर को मोरहाबादी मैदान में लाखों की संख्या में पहुंचकर कर होने वाले प्रदर्शन कार्यक्रम में समिति अपनी ताकत दिखाएगी। प्रदर्शन के बाद मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपा जाएगा। कार्यक्रम को लेकर जिले में भी सभी प्रखंडों में तैयारी चल रही है। हजारों की संख्या में जिले से हजारों की संख्या में रांची कूच करेंगे। इसके लिए सभी प्रखंडों में विशेष रूप से इसकी तैयारी चल रही है। बैठक की अध्यक्षता प्रदेश संगठन सचिव डॉ. सुनील कुमार कश्यप व संचालन जिला संयोजक श्याम किशोर महतो ने किया।




पुलिस लाइन स्थित सर्जेंट मेजर के आवास पर एनएमओपीएस के प्रांतीय अध्यक्ष विक्रान्त सिंह के नेतृत्व में गढ़वा जिला इकाई ने सार्जेंट मेजर सह अध्यक्ष पुलिस एसोसिएशन आनंद राज खलखो से मुलाकात की। साथ ही उन्हें के उद्देश्यों तथा पुरानी पेंशन एवं नई पेंशन योजना पर विस्तृत चर्चा की तथा चलाए जा रहे आंदोलन की जानकारी दी। एनएमओपीएम के जिला संयोजक सुशील कुमार ने कहा कि आगामी 29 सितम्बर को राज्यस्तरीय पेंशन पर संघर्ष रैली में का आयोजन कया गया है। जिसके लिए उन्हें आमंत्रित किया गया। सार्जेंट मेजर ने अधिकाधिक संख्या में गढ़वा जिले से पुलिस बल को राज्यस्तरीय राँची की रैली में शामिल होने का निर्देश देने का आश्वासन दिया। सार्जेंट मेजर ने कहा कि नई पेंशन योजना के खिलाफ हम सारे पुलिस विभाग एकजुट है और इसके लिए तन,मन और धन से तैयार है।

Category: News

About the Author ()

Comments are closed.