बोनस की बौछार – रेलवे कर्मियों को इस बार भी 17951 रु. का बोनस

| September 11, 2019

दुर्गापूजा में अब चंद दिन ही बचे हैं। बावजूद अबतक रेलवे कर्मचारियों को मिलने वाले बोनस को लेकर सुगबुगाहट शुरू नहीं हुई है। यहां तक कि अबतक रेलवे बोर्ड स्तर पर बोनस को लेकर बैठक भी नहीं बुलाई गई है। ऐसे में रेलवे यूनियनों ने मंत्रलय को पत्र भेजकर बढ़े हुए उत्पादकता आधारित बोनस का दबाव बनाना शुरू कर दिया है। रेलवे के विभागीय सूत्रों की मानें तो इस बार भी पिछले साल की तरह 17951 रुपये बोनस मिलने की संभावना है। बोनस का लाभ धनबाद रेल मंडल के 20 हजार से अधिक कर्मचारियों को मिलेगा।








क्या है फेडरेशन की मांग : नेशनल फेडरेशन ऑफ इंडियन रेलवेमेन की ओर से रेलवे बोर्ड के चेयरमैन (सीआरबी) वीके यादव को दिए गए पत्र में कहा गया है कि ढाई लाख से अधिक रिक्त पदों के बावजूद कर्मचारियों ने वर्ष 2018-19 में बेहतर काम किया है।




उनके ऊपर अतिरिक्त बोझ को देखते हुए बोनस के दिनों में बढ़ोतरी होनी चाहिए। लगातार सात सालों से 78 दिनों का बोनस दिया जा रहा है। इसमें बढ़ोतरी से मेहनतकश कर्मचारियों का मनोबल बढ़ेगा।

रेलवे की आय और उत्पादन में बढ़ोतरी हुई है। इसी आधार पर बोनस में बढ़ोतरी संबंधी पत्र मंत्रलय को दिया गया है। उम्मीद है मंत्रलय के अधिकारी जल्द बैठक कर निर्णय करेंगे।

प्रेम शंकर चतुर्वेदी, जोनल सचिव नेशनल फेडरेशन ऑफ इंडियन रेलवेमेन




हजार से अधिक धनबाद रेल मंडल के कर्मचारी कर रहे बोनस का इंतजार

’>>रेलवे बोर्ड स्तर पर बैठक नहीं होने से कर्मचारियों के चेहरे पर अबतक मायूसी

’>>रेल यूनियन ने बोनस के दिनों में बढ़ोतरी का बनाया दबाव सीआरबी को भेजा पत्र

 

Tags: , , , , , ,

Category: News

About the Author ()

Comments are closed.