तेलंगाना एक्सप्रेस में लगी भीषण आग – पेंट्री कार और दो एसी कोच आए चपेट में, शॉर्ट सर्किट से हुआ हादसा

| August 30, 2019

हैदराबाद से दिल्ली आ रही तेलंगाना एक्सप्रेस में बृहस्पतिवार सुबह पौने आठ बजे जाजरू गांव के फाटक के पास एसी के तार में शार्ट सर्किट होने से पैंट्री कार सहित दो एसी कोच में भीषण आग लग गई। उस समय अधिकतर यात्री सो रहे थे। आग की सूचना से यात्री परेशान हो गए। शुक्र रहा कि आग अधिक फैलने से पहले ही सभी यात्रियों को ट्रेन से सकुशल उतार दिया गया। दमकल गाड़ियों के समय पर न पहुंचने से ट्रेन के डिब्बे करीब डेढ़ घंटे तक जलते रहे। बाद में तीन दमकल गाड़ियां मौके पर पहुंची। उधर, सूचना मिलने पर दिल्ली डिवीजन के डीआरएम एससी जैन मौके पर पहुंच गए। करीब तीन घंटे तक अप एवं डाउन मेन लाइन पर रेल यातायात बंद रहा। करीब साढ़े दस बजे यातायात बहाल किया गया।








गाड़ी संख्या 12723 तेलंगाना एक्सप्रेस पियाला ठहराव पर गांव जाजरू फाटक के नजदीक पहुंची, तो ड्यूटी पर तैनात गेटमैन विशंभर ने एक्सप्रेस के रसोईयान कक्ष के डिब्बे में धुआं उठते देखा। इसकी सूचना तुरंत चालक को दी। चालक ने तुरंत एमरजेंसी ब्रेक लगा दिए। टिकट निरीक्षकों के माध्यम से ट्रेन में सो रहे यात्रियों को आग की सूचना दी गई और ट्रेन से नीचे उतरने को कहा गया। आग की सूचना दिल्ली मुख्यालय को दी गई। वहां से सूचना फरीदाबाद एवं बल्लभगढ़ स्टेशन पैनल को दी गई थी। ट्रेन में सवार टिकट निरीक्षक बीपी सिंह ने बताया कि एसी के तार में शार्ट सर्किट होने से आग लगी। सूचना मिलने पर रेलवे अधिकारी पहुंच गए। इससे पूर्व ही आग को अन्य डिब्बों में फैलने से बचाने के लिए ट्रेन को तीन हिस्सों में कर दिया गया। आग पर काबू पाने लिए ट्रेन के अंदर और पियाला ठहराव पर लगे सभी सिलेंडरों को उपयोग किया गया।




आग पर काबू पाने के बाद रेलवे प्रशासन ने ट्रेन के सभी यात्रियों को अगले नौ डिब्बों में बिठाकर दिल्ली रवाना कर दिया। ट्रेन के आग लगने वाले डिब्बों को इंजन की मदद से असावटी रेलवे स्टेशन पर भेज दिया गया। डीआरएम एससी जैन ने बताया कि वे घटना की जांच कर रहे हैं।

बल्लभगढ़ और पियाला गांव के समीप तेलंगाना एक्सप्रेस ट्रेन में शॉर्ट सर्किट के बाद लगी आग का दृश्य ’ जागरण

जागरण संवाददाता, फरीदाबाद : जाजरू गांव के पास तेलंगाना एक्सप्रेस के पेंट्रीकार सहित तीन डिब्बों में लगी आग के चलते दिल्ली-पलवल के बीच ट्रेन यातायात पूरी तरह ठप रहा। इसके चलते फरीदाबाद स्टेशन पर यात्री घंटों तक परेशान होते रहे।




दिल्ली की ओर से आने वाली ट्रेनों को पलवल की ओर भेजा रहा था, लेकिन पलवल की ओर से दोपहर 12 बजे तक कोई ट्रेन नहीं आ रही थी। स्टेशन पर ट्रेनों के नहीं पहुंचने से यात्री लगातार पूछताछ केंद्र पर जानकारी जुटा रहे थे, लेकिन पूछताछ केंद्र पर बैठे अधिकारी के पास भी ट्रेनों की जानकारी नहीं होने से असहाय महसूस कर रहे थे।

इस हादसे से करीब 20 ट्रेनें प्रभावित रही। दोपहर दो बजे के बाद ट्रेनों का आवागमन सामान्य हो सका। फरीदाबाद स्टेशन से प्रतिदिन 25 हजार के करीब दैनिक यात्री सफर करते हैं। इस रूट पर सुबह सात से दोपहर 12 बजे तक ट्रेनों का काफी आवागमन होता है। बृहस्पतिवार को तेलंगाना एक्सप्रेस में आग लगने के बाद उत्तर रेलवे ने अप एवं डाउन मेन लाइन के ट्रेन यातायात को पूरी तरह बंद कर दिया था।

Tags: , ,

Category: News

About the Author ()

Comments are closed.