रेलवे के निजीकरण के खिलाफ सरकार पर बरसीं प्रियंका, कहा- नहीं होने देंगे रेल फैक्ट्री का निजीकरण

| August 27, 2019

प्रियंका गांधी ने कहा कि संपत्तियों को चुनिंदा उद्योगपतियों के हाथों में दिया जा रहा है. देश की संस्थाओं को कमजोर किया जा रहा है. हम सभी को साथ लड़ाई लड़नी होगी. इस फैक्टरी में उत्पादन दोगुना है लेकिन राजनीतिक कारणों की वजह से ये निजीकरण करना चाहते हैं.








एक दिन के रायबरेली दौरे पर पहुंचीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी मंगलवार को रेल कोच फैक्ट्री के कर्मचारियों के साथ धरने पर बैठ गईं. लालगंज कस्बे में स्थित रेल कोच फैक्ट्री के निजीकरण के खिलाफ कर्मचारी धरने पर बैठे हैं. इन कर्मचारियों से प्रियंका गांधी ने मुलाकात की.




केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कांग्रेस महासचिव ने कहा, जब हमने फैक्ट्री के लिए जमीन अधिग्रहित की थी तो किसानों को दोगुना मुआवजा दिया था. यह फैक्ट्री मुनाफे में है. फिर भी इसका निजीकरण किया जा रहा है.




यह सब उद्योगपतियों को फायदा पहुंचाने के लिए किया जा रहा है. प्रियंका ने बीजेपी सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा, ‘मैंने अखबार में विज्ञापनa देखे हैं, जिसमें चाय बागान यूनियनों और मिल एसोसिएशन ने कहा कि हम बर्बाद हो रहे हैं, हमें बचा लो. ऐसी स्थिति आ गई है कि हमें अपनी गिरती अर्थव्यवस्था का विज्ञापन देना पड़ रहा है.’

प्रियंका गांधी ने कहा, ‘संपत्तियों को चुनिंदा उद्योगपतियों के हाथों में दिया जा रहा है. देश की संस्थाओं को कमजोर किया जा रहा है. हम सभी को साथ लड़ाई लड़नी होगी. इस फैक्ट्री में उत्पादन दोगुना है लेकिन राजनीतिक कारणों की वजह से ये निजीकरण करना चाहते हैं.’

कांग्रेस महासचिव ने आगे कहा कि निजीकरण के फैसले को लेकर यूनियन से भी बात नहीं की गई. धीरे-धीरे अन्य संस्थाओं को भी निशाना बनाया जाएगा और उन्हें भी बीजेपी सरकार अपने कॉरपोरेट दोस्तों के हाथों में सौंप देगी. प्रियंका गांधी ने कहा, ‘जब भी मुझे यहां बुलाया जाएगा मैं आऊंगी. सोनिया गांधी आपकी आवाज को संसद में उठाएंगी जबकि मैं यहां आकर आपके संघर्ष में साथ दूंगी.  प्रियंका ने कहा, हम रेल कोच फैक्ट्री का निजीकरण नहीं होने देंगे. बीजेपी यहां कंपनी राज लाना चाहती है.’

Category: News

About the Author ()

Comments are closed.