Keep these things in mind before transferring home loans

| August 11, 2019

10 साल से कम अवधि के लिए होम लोन ट्रांसफर नहीं कराएं

रिजर्व बैंक की ओर से लगातार चार नीतिगत दर में कटौती के बाद बैंकों ने इसका लाभ ग्राहकों को देना शुरू कर दिया है। ऐसे में अगर आपका बैंक आपसे होम लोन पर ज्यादा ब्याज ले रहा है तो आप लोन की बची रकम दूसरे बैंक में ट्रांसफर करा सकते हैं। लेकिन, यह तभी फायदेमंद होगा जब लोन की अवधि 10 साल से अधिक हो या नई ब्याज दर मौजूदा दर से कम से कम एक फीसदी कम हो। इससे कम अवधि में यह घाटे का सौदा हो सकता है। पेश है एक रिपोर्ट।




पहले लागत का आकलन करें
होम लोन ट्रांसफर कराने से पहले नए बैंक की प्रोसेसिंग शुल्क, प्रॉपर्टी जांचने का खर्च, कागजी खर्च, स्टैंप ड्यूटी और इंश्योरेंस आदि का आकलन करें। वित्तीय विशेषज्ञों का कहना है कि किसी भी दूसरे बैंक में लोन को ट्रांसफर करने से पहले लागत और बचत का आकलन करना चाहिए। अगर लोन ट्रांसफर करने की लागत और बचत में बहुत कम का अंतर है तो वह फायदे का सौदा नहीं होगा। ऐसी स्थिति में आप मौजूदा बैंक से होम लोन पर ब्याज दर में कमी करने का आवेदन कर सकते हैं। बैंक आपके वित्तीय ट्रैक रिकॉर्ड को देखते हुए ब्याज दर में कमी कर सकता है।




लंबी अवधि में ही फायदेमंद
उदाहरण के लिए मान लेते हैं कि आपने किसी बैंक से 50 लाख रुपये का होम लोन 20 साल के लिए लिया है। बैंक आपसे 10.5 फीसदी की दर से ब्याज ले रहा है। ऐसे में आपकी ईएमआई करीब 49,919 रुपये होगी। अगर लोन की अवधि 10 साल बची है और बैंक को 30 लाख रुपये देना है तो ट्रांसफर करना सही होगा। अगर कोई दूसरा बैंक 9 फीसदी ब्याज पर लोन ट्रांसफर का विकल्प देता है तो आपकी ईएमआई 38,003 रुपये होगी। इस तरह आप बचे अवधि के दौरान लोन को ट्रांसफर करा कर ईएमआई  में अच्छी खासी बचत  कर सकते हैं।

एक साल बाद ही बदलने का विकल्प
होम लोन बदलने का विकल्प आप तभी चुन सकते हैं जब आप मौजूदा बैंक में 12 ईएमआई का भुगतान कर चुके हैं। यानी आप एक साल के बाद ही किसी दूसरे बैंक में अपने होम लोन को ट्रांसफर करा सकते हैं। हालांकि, दूसरे बैंक में होम लोन को ट्रांसफर कराना बहुत आसान भी नहीं है। नया बैंक आपका वित्तीय ट्रैक रिकॉर्ड और सिबिल स्कोर देखने के बाद ही लोन ट्रांसफर करने की स्वीकृति देता है। अगर आपने ईएमआई का समय से भुगतान नहीं किया है तो ट्रांसफर का लाभ आप नहीं ले सकते हैं। कोई दूसारा बैंक आपको होम लोन लोन ट्रांसफर करने की सहूलियत नहीं देगा।

फिक्स्ड या फ्लोटिंग में कौन सही
अगर आप होम लोन का बैलेंस ट्रांसफर करने जा रहे हैं तो ब्याज की दर फिक्स्ड या फ्लोटिंग में कौन ज्यादा फायदेमंद होगा? विशेषज्ञों का कहना है कि अगर आपने फिक्स्ड रेट में होम लिया है तो आप फ्लोटिंग का चुनाव कर सकते हैं। कई बैंक फ्लोटिंग में कम ब्याज पर होम लोन देते हैं। अगर आप फिक्स्ड दर पर लोन चाहते हैं तो इसका भी चुनाव कर सकते हैं। हालांकि, अधिकांश बैंक तीन साल के लिए ही फिक्स्ड दर पर होम लोन देते हैं। उसके बाद वह उसे फ्लोटिंग में बदल देते हैं।




बैंकों की ब्याज दर को पहले जानें
होम लोन ट्रांसफर कराने से पहले बैंकों के होम लोन पर वसूली जा रही ब्याज दर की तुलना करें। मौजूदा समय में होम लोन पर ब्याज की दर 8.40 फीसदी से 12 फीसदी तक है। वित्तीय विशेषज्ञों का कहना है कि हमेशा होम लोन ट्रांसफर में सरकारी बैंकों को तवज्जो देना चाहिए। प्राइवेट बैंकों के मुकाबले सरकारी बैंक कम ब्याज दर पर लोन मुहैया कराते हैं। हालांकि, इसके लिए आपको पुख्ता कागजी कार्रवाई करनी होगी।

अपना क्रेडिट स्कोर पहले चेक करें
होम लोन को किसी दूसरे बैंक में ट्रांसफर करने से पहले आप अपना क्रेडिट स्कोर को जरूर चेक करें। जिस भी बैंक में आप होम लोन ट्रांसफर करने की सोच रहे हैं वह आवेदन स्वीकार करने से पहले क्रेडिट स्कोर जरूर जांचेगा। खराब सिबिल स्कोर की वजह से आपका आवेदन रद्द हो सकता है। इसलिए हमेशा कोशिश करें कि नए बैंक पर लोन ट्रांसफर करने से पहले अच्छा सिबिल स्कोर कायम रखें। अच्छा सिबिल स्कोर होने पर नया बैंक आपको कम ब्याज दर पर लोन ट्रांसफर का विकल्प दे सकता है। साथ ही दूसरे शुल्क में छूट या कम कर राहत दे सकता है।

इन दस्तावेजों की पड़ेगी जरूरत
होम लोन ट्रांसफर के लिए आवदेक की फोटो, बैंक खाते की जानकारी, पहचान पत्र व पते, आय का सबूत आदि दस्तावेजों जरूरी होते हैं। इसके साथ ही मौजूदा वित्तीय संस्थान द्वारा लिखित प्रमाण की जरूरत होती है कि प्रॉपर्टी उसी के पास है। मौजूदा कर्जदाता से बकाया राशि का पत्र और प्रॉपर्टी के कागजातों की एक कॉपी की भी जरूरत होती है।




यह भी जानें
110 आधार अंकों की कटौती रेपो रेट में रिजर्व बैंक ने की लगातार चार समीक्षा में।
01 फीसदी कम ब्याज पर होम लोन को ट्रांसफर करना फायदे का सौदा।
12 माह के बाद ही बैंक देते हैं होम लोन ट्रांसफर करने का विकल्प।

बैंकों की ब्याज दरें
बैंक                      ब्याज दर        प्रोसेसिंग शुल्क
एसबीआई              8.40%         2000 से 10000 रुपये
पीएनबी                 8.50%        2500 से 15000 रुपये
बीओबी                 8.60%        1000 से 20000 रुपये
एचडीएफसी बैंक    8.55%         ऋण राशि का 0.5% तक
आईसीआईसीआई  8.70%         0.5% से 01% तक
एक्सिस बैंक           8.90%       ऋण राशि का 1% तक

Tags: , , , , ,

Category: Banking, Home Loans

About the Author ()

Comments are closed.