रेलकर्मियों को अनुबंधित निजी अस्पतालों में मिलेगी वेतन के अनुसार सुविधा, कम वेतन तो जेनरल वार्ड में ही इलाज

| August 10, 2019

आप रेल कर्मचारी हैं और आपका पगार ज्यादा है तो अब आपकी आवभगत में कोई कमी नहीं रहेगी। निजी अस्पतालों में आपको केबिन या सेमी प्राइवेट वार्ड मिलेगा। पर आप कम तनख्वाह वाले हैं तो आपका स्वागत जनरल वार्ड में होगा। जी हां, रेलवे ने अनुबंध किए गए निजी अस्पतालों के लिए यही व्यवस्था की है। रेलवे बोर्ड की संयुक्त निदेशक स्वास्थ्य द्वितीय एचके संहोत्र ने इस संबंध में सभी जोनल रेलवे को आदेश जारी किया है। रेलवे ने अपने कर्मचारियों के बेहतर इलाज के लिए कई निजी अस्पतालों से अनुबंध किया है। ऐसे अस्पतालों में इलाज के लिए उम्मीद स्मार्ट कार्ड भी जारी किए जा रहे हैं। स्मार्ट कार्ड से ही निजी अस्पतालों में भी इलाज करा सकेंगे। पर अस्पतालों में मिलने वाली सुविधा कर्मियों के वेतन पर निर्भर होगा।








ऐसे बना सकते हैं उम्मीद स्मार्ट कार्ड : रेल कर्मियों और सेवानिवृत्त कर्मचारियों को उम्मीद वेबसाइट पर जाकर तस्वीर सहित सभी ब्योरा दर्ज करना होगा। इसमें सर्विस नंबर, पैन नंबर, मोबाइल नंबर व अन्य जानकारी, कर्मचारी को आइ पास इंटीग्रेटेड पेमेंट सिस्टम करना होगा। इससे रेलकर्मियों व उनके आश्रित समेत सेवानिवृत्तों को एक यूनिक स्मार्ट हेल्थकार्ड मिलेगा। उसे दिखाकर रेलकर्मी या उनके परिजन किसी भी अनुबंधित अस्पताल में निश्शुल्क इलाज करा सकेंगे।




47600 वेतन वालों का अस्पताल के जेनरल वार्ड में इलाज

47601 से 63,100 वेतन वालों को सेमी प्राइवेट वार्ड की मिलेगी सुविधा

63101 और उससे अधिक वेतन वालों का प्राइवेट वार्ड में होगा इलाज

जल्दी ही दौड़ेगी गंगा नदी के नीचे से भारत की पहली रेल

कोलकाता की हुगली नदी के नीचे से मेट्रो गुजरेगी जिसका काम लगभग पूरा हो चुका है और जल्द ही चलायी जाएगी। रेलमंत्री पीयूष गोयल ने एक वीडियो जारी कर यह जानकारी दी है। ये सुरंगें 520 मीटर लम्बी और लगभग 30 मीटर गहरी हैं और नदी के नीचे से होकर जाने वाली मेट्रो को यह सुरंग पार करने में कुल 60 सेकंड का वक्त लगेगा।




रेल मंत्री पीयूष गोयल ने एक वीडियो ट्वीट किया है और बताया है कि जल्द ही ये ट्रेन दौड़ेंगी। भारत की पहली अंडर वॉटर मेट्रो ट्रेन शीघ्र ही हुगली नदी के नीचे चलना आरंभ होगी। पीयूष गोयल ने वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा है कि ’भारत की पहली अंडर वॉटर ट्रेन शीघ्र ही कोलकाता में हुगली नदी के नीचे चलना आरंभ होगी। उत्कृष्ट इंजीनियरिंग का उदाहरण यह ट्रेन देश में निरंतर हो रही रेलवे की प्रगति का प्रतीक है। इसके बनने से कोलकाता निवासियों को सुविधा और देश को गर्व का अनुभव होगा।’ वीडियो में बताया गया है कि पहली अंडर वॉटर कोलकाता मेट्रो सॉल्टलेक सेक्टर 5 से हावड़ा मैदान तक की यात्रा करने के लिए तकरीबन तैयार है। 2 फेस में बटी इस लाइन में फेस 1 को जल्द ही आम लोगों के लिए चालू कर दिया जाएगा। कोलकाता वासियों के लिए ये बेहद राहत वाला कदम है। अंडर वॉटर ट्रेन को पानी से बचाने के लिए चार उच्च स्तरीय सुरक्षा कवज लगाए गए हैं।

Tags: , , , , , ,

Category: News, Uncategorized

About the Author ()

Comments are closed.