अच्छी खबर – केन्द्रीय कर्मचारी अब 15 दिन में निकाल सकेंगे GPF का पैसा

| July 19, 2019
केंद्रीय कर्मचारियों के लिए सरकार की तरफ से एक खुशखबरी है। अब आगर आपने 10 साल की नौकरी पूरी कर ली है तो आप 15 दिन में पीएफ निकाल सकेंगे। 10 वर्ष की नौकरी के बाद अब आप जीपीएफ का पैसा महज 15 दिन में निकाल सकते हैं। पहले यह भविष्य निधि (जीपीएफ) का पैसा निकलने की यह सीमा 15 साल थी।








 इनके लिए मिल सकेगा जीपीएफ
सरकार ने सामान्‍य भविष्य निधि (जीपीएफ) से पैसा निकालने के नियमों को आसान कर दिया है। अब हम जीपीएफ से पैसा प्राथमिक, माध्यमिक और उच्च शिक्षा के लिए और सभी संस्थानों हेतु निकाल सकेंगे। बता दें कि इससे पहले केवल हायर स्‍टडीज के लिए ही जीपीएफ से पैसा निकाला जा सकता था, लेकिन अब आदेशनुसार अंशधारकों द्वारा उठाई गई चिंताओं के निवारण के लिए नियमों में समय समय पर संशोधन किए जाते हैं। हालांकि प्रावधान मोटे तौर पर प्रतिबंधात्मक ही रहते हैं।




बदले ये नियम 
भविष्य निधि (जीपीएफ) के बदले नियमों के अनुसार 12 महीने के वेतन या कुल अंशदान की तीन चौथाई राशि (जो भी कम हो) के निकालने की अनुमति देने का फैसला किया गया है। बीमारी के मामले में अंशधारक के खाते की कुल राशि की 90 प्रतिशत तक राशि की निकाली जा सकेगी। अंशधारक सेवा के 10 साल पूरे होने के बाद निकाल सकता है। जीपीएफ से राशि की निकासी टिकाउ उपभोक्ता सामान खरीदने के लिए भी की जा सकती है।
आपातकाल स्थिति में घाट सकती है सीमा
मंत्रालय के अनुअसर जीपीएफ से धन निकालने के आवेदन को मंजूरी और राशि के भुगतान के लिए 15 दिन की समयावधि तय की गई है। अनुमान लगाया जा रहा है कि बीमारी या अन्य आपात स्थिति में यह सीमा घटाकर सात दिन भी हो सकती है। इसके साथ ही कर्मचारियों को जीपीएफ से पैसा निकालने के लिए अब कोई पूरक साक्ष्य नहीं देना होगा बल्कि एक स्वघोषणा ही देनी होगा।




अभी तक एक साल के अंदर रिटायर हो रहे कमर्चारियों को अपने जीपीएफ से 90 प्रतिशत तक राशि निकालने की अनुमति है, लेकिन अब इस अवधी को बढ़ाकर दो साल करने का प्रस्ताव है। बदले हुए नियमों के अनुसार इसी तरह मोटर कार, मोटरसाइकिल और स्कूटर जैसे वाहनों की खरीद या इस उद्देश्य से लिए गए ऋण को चुकाने के लिए भी जीपीएफ से पैसा निकाला जा सकता है।
तत्काल पैसे की आपूर्ति में मिलेगी सुविधा 
केंद्रीय कर्मचारियों को सरकार की इस नई सुविधा ने बहुत बड़ा लाभ मिलेगा। लखनऊ के कल्याणपुर के निवासी धीरेन्द्र प्रताप सिंह जो कि कोटक महिंद्रा में सर्विस करते हैं, का कहना है की पीएफ की इस सुविधा का सीधा फ़ायदा मिलेगा। आकस्मिक जरूरतों की पूर्ती की लिए यह बहुत फायदेमंद है।

Category: News

About the Author ()

Comments are closed.