रेलवे कर्बिमचारियों के लिए अच्छी खबर – बिना रिकार्ड पदोन्नति,वेतन वृद्धि, निर्धारित समय के बाद रेल कर्मियों को लाभ

| July 8, 2019

अब रेलवे अधिकारियों की गलती की खामियाजा रेल कर्मियों को नहीं भुगतना पड़ेगा। 31 अगस्त तक ऐसे कर्मियों की फाइल ठीक करने और ठीक नहीं होने वाली फाइलों को मुख्यालय भेजने का आदेश है। जिसकी फाइल पूरी नहीं होगी, उसे भी पदोन्नत कर दिया जाएगा। यह व्यवस्था देश में लागू हो जाएगी।








तबादला हो जाने के बाद अधिकारी कर्मियों की सेवा पुस्तिका में रिपोर्ट अंकित नहीं करते हैं। इससे पुस्तिका को अधूरा माना जाता है। इससे कर्मियों का पदोन्नति व वेतन वृद्धि रुक जाती है। आरोप है कुछ कर्मियों की फाइलों को जानबूझकर अधूरा छोड़ दिया जाता है। इससे कर्मचारियों की पदोन्नति, वेतन वृद्धि आदि रुक जाती है। नई व्यवस्था के तहत ऐसा नहीं होगा। सबसे अधिक मामले वाणिज्य विभाग के हैं। सेवा पुस्तिका को तबादला होकर बाहर गए अधिकारियों के पास भेजा जाता है, लेकिन उनके द्वारा बिना रिपोर्ट लगाए वापस कर दिया जाता है।




रेलवे के ट्रेड यूनियन ने इस मामले को रेलवे बोर्ड के अधिकारियों से सामने उठाया और कहाअधिकारियों की गलती कर्मियों को क्यों भुगतना पड़ रही है। रेलवे बोर्ड से डायरेक्टर जनरल (कार्मिक) मनोज पांडेय ने 27 जून को सभी जोन के मुख्य कार्मिक अधिकारी को पत्र भेजा है। इसमें कहा कि जिस कर्मचारी से फाइल लम्बे समय से अधूरी है, उन्हें 31 अगस्त तक पूरा कर कर्मियों को नियमानुसार पदोन्नति व अन्य लाभ उपलब्ध कराएं। मुरादाबाद रेल मंडल में ऐसे एक हजार से अधिक कर्मचारी हैं।




प्रवर मंडल कार्मिक अधिकारी विपुल गोयल ने बताया कि ऐसी फाइलों को निकाला जा रहा है और कमी को दूर कर अधिकारियों, कर्मियों को पदोन्नति आदि का लाभ दिया जाएगा। किसी कारण से फाइल पूरी नहीं होगी, उसकी सूचना मुख्यालय के लिए भेजी जाएगी।

Category: News

About the Author ()

Comments are closed.