रेलवे अस्पताल के सीएमएस के खिलाफ एससी-एसटी केस

| July 4, 2019

 रेल अस्पताल के चीफ मेडिकल सुपरिंटेंडेंट (सीएमएस) रवींद्रनाथ राय के खिलाफ अस्पताल की महिला एसीएमएस डॉ एएन टोपनो ने गंभीर आरोप लगाए हैं। डॉ टोपनो की लिखित शिकायत पर बुधवार को सीएमएस के खिलाफ एससी-एसटी थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई। आरोप है कि डॉ आरएन राय ने डॉ टोपनो को सार्वजनिक तौर पर अपशब्द कहे। उन्हें जातिसूचक शब्द कह कर प्रताड़ित किया गया। इधर सीएमएस ने भी एसीएमएस के पति के खिलाफ चैंबर में घुस कर मारपीट का प्रयास करने की शिकायत की है।








डॉ टोपनो ने पुलिस को दिए आवेदन में बताया कि बुधवार की दोपहर करीब साढ़े 12 बजे वह इंडोर वार्ड के बेड नंबर पांच पर भर्ती आरपीएफ के हेड कांस्टेबल उमेश कुमार पांडेय की पत्नी पूनम पांडेय की जांच कर रही थीं। इसी बीच सीएमएस ने फोन कर उन्हें अपने चैंबर में बुलाया। चैंबर में पहुंचते ही सीएमएस उन्हें ऊंची आवाज में डांटने लगे। मुझे जातिसूचक शब्द कह कर धमकी दी गई। इस दौरान डॉक्टरों और अस्पतालकर्मियों सहित मरीजों की भीड़ जुट गई। उनके पति रवींद्र कुमार अस्पताल में बीपी की जांच कराने पहुंचे थे। उन्होंने जब शोर सुना तो वे भी सीएमएस के चैंबर में पहुंचे। सीएमएस ने पति को भी अपशब्द कहते हुए पुलिस के सुपुर्द करने की धमकी दी। इस पूरे वाक्ये के दौरान मौके पर डॉ शिशिर शर्मा और डॉ पीआर ठाकुर सहित अस्पताल के अन्य लोग मौजूद थे।




डॉ टोपनो ने डीएसपी लॉ एंड आर्डर मुकेश कुमार और थाना प्रभारी नवीन कुमार राय से मिलकर पूरे मामले की जानकारी दी। दूसरी तरफ सीएमएस ने अपने आवेदन में आरोप लगाया कि डॉ टोपनो के पति मारपीट को आतुर थे। उन पर कुर्सी फेंकने का प्रयास किया गया। वहां मौजूद आरपीएफ रवि शंकर यादव ने उन्हें बचाया। उन्होंने डॉ टोपनो के पति से जान का खतरा बताया है।




मरीज के रेफर को लेकर बिगड़ा मामला

डॉ टोपनो ने बताया कि मरीज पूनम के पति उन्हें निजी अस्पताल में रेफर कराना चाहते थे। वे रेफर की प्रक्रिया में जुटी थीं। लेकिन सीएमएस को बताया गया कि उन्होंने मरीज के पति को कहा है कि सीएमएस ने किसी भी मरीज को रेफर करने से मना किया है जबकि उन्होंने ऐसा नहीं कहा था। इतना सुनते ही सीएमएस भड़क गए और उनका पक्ष पूछे बिना उन्हें भला-बुरा कहने लगे। यदि उन्हें बोलने का मौका दिया जाता तो इतनी बात ही नहीं बढ़ती।

सीएमएस के खिलाफ दो बार डीआरएम से मिल चुके हैं डॉक्टर

डॉ एएन टोपनो ने बताया कि डॉ आरएन राय ने जब से रेलवे अस्पताल में सीएमएस का पदभार लिया, तब से सभी डॉक्टर परेशान हैं। लगातार उनके खिलाफ अस्पताल के डॉक्टर शिकायत कर रहे हैं। इससे पहले 24 अप्रैल को डॉक्टरों ने डीआरएम अनिल कुमार मिश्रा को सीएमएस के बर्ताव के संबंध लिखित शिकायत की थी। 27 मई को महिला डॉक्टरों के प्रतिनिधिमंडल ने डीआरएम से मुलाकात कर सीएमएस की शिकायत की थी। आरोप है कि सीएमएस किसी से सीधे मुंह बात नहीं करते हैं।

महिला डॉक्टर की शिकायत पर प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। जांच के बाद आरोपी सीएमएस के खिलाफ कार्रवाई होगी। सीएमएस की शिकातय की भी जांच हो रही है।

– मुकेश कुमार, डीएसपी, लॉ एंड आर्डर

Category: News

About the Author ()

Comments are closed.