रेल कोच फैक्ट्री पर सोनिया को पीयूष गोयल ने दिखाया आईना, कहा की रेलवे के निजीकरण की तरफ जाएगी मोदी सरकार

| July 4, 2019

रायबरेली कोच फैक्ट्री के निगमीकरण के मुद्दे पर कांग्रेस सांसद व संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी के आरोपों पर बुधवार को रेल मंत्री पीयूष गोयल ने पलटवार किया। गोयल ने कहा कि संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार ने सिर्फ कोच फैक्ट्री की घोषणा की थी, इस पर काम मोदी सरकार में शुरू हुआ।

बता दें कि अपने संसदीय क्षेत्र रायबरेली में रेल कोच फैक्ट्री के निगमीकरण के मुद्दे को सोनिया गांधी ने मंगलवार को लोकसभा में उठाया था। उन्होंने कहा था कि सरकार की मंशा इस फैक्ट्री का निजीकरण करने का है और निगमीकरण असलियत में इसके निजीकरण की तरफ बढ़ने वाला पहला कदम है।








“>

लोकसभा में शून्य प्रहर के दौरान एक सवाल के जवाब में गोयल ने कहा कि कांग्रेस के नेतृत्व वाली जिस संप्रग सरकार में 11 साल पहले इस फैक्ट्री का उद्घाटन हुआ था, वहां काम मोदी सरकार के काल में शुरू हुआ है। कांग्रेस सिर्फ घोषणाएं करती थी, मोदी सरकार में काम हो रहा है। इस कोच फैक्ट्री में जो भी काम हुआ है वह वर्ष 2014 के बाद हुआ है।




उन्होंने कहा कि रायबरेली कोच फैक्ट्री कांग्रेस की दोहरी नीति का एक बड़ा उदाहरण है। वर्ष 2008 में यूपीए-एक के कार्यकाल में इसकी घोषणा की गई लेकिन वर्ष 2014 तक इसमें एक भी कोच का निर्माण नहीं हुआ। मोदी सरकार ने इस फैक्ट्री के काम को तेज किया। जिससे पिछले वर्ष इस कोच फैक्ट्री में 1422 रेलवे कोचों का निर्माण संभव हो सका है।




गोयल ने यह भी कहा कि 2004-05 में तत्कालीन वित्त मंत्री ने अपने बजट भाषण में कहा था कि निजीकरण और विनिवेश उपयोगी आर्थिक उपाय हैं। बता दें कि 2004-14 तक केंद्र में कांग्रेस नीत संप्रग की सरकार थी।

Source:- Jagran

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.