रेलवे छवि बेहतर बनाने के लिए करेगा निजी पीआर पेशेवरों की भर्ती, सोशल मीडिया पर खास सक्रिय रहेगी टीम

| June 17, 2019

रेलवे यात्रियों की सुविधाएं बढ़ाने के साथ अपनी छवि बेहतर बनाने में जुट गया है। इसके लिए वह निजी जनसंपर्क (पीआर) पेशेवरों की नियुक्ति करेगा। ये पीआर पेशेवर रेलवे मंत्रालय के साथ जोन स्तर पर भी नियुक्त किए जाएंगे। उसने ऐसी निजी पेशेवरों की नियुक्ति के लिए गाइडलाइन भी जारी कर दी है।








सूत्रों के मुताबिक, एक मुख्य जन संपर्क अधिकारी (सीपीआरओ) के साथ 70 ऐसे पेशेवर काम कर रहे हैं। ये पेशेवर रेलवे की सुविधाओं और सामाजिक कार्यों की जानकारी जनता तक पहुंचाते हैं। रेलवे के सोशल मीडिया अकाउंट भी संभालते हैं। अब हर जोन में उनकी मदद के लिए 17 निजी पीआर पेशेवरों की टीम काम करेगी। रेलवे बोर्ड के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि जोन में काम करने वाली 17 प्रशिक्षित पेशेवरों की टीम में एक टीम लीडर, सोशल मीडिया मैनेजर, कांटेंट राइटर, वीडियो एडीटर और अन्य होंगे। इसके लिए हर जोन का दो करोड़ रुपये का बजट होगा।




रेलवे बोर्ड के अधिकारी का कहना है कि मौजूदा रेलवे अधिकारी प्रचार-प्रसार गतिविधियों में ज्यादा विशेषज्ञ नहीं हैं। जबकि कार्यक्षमता बेहतर करने में इनकी बेहद जरूरत है। डिजिटल युग में रेलवे की गतिविधियों के प्रचार-प्रसार के तौरतरीकों के वह अभ्यस्त नहीं है। ऐसे में रेलवे सीपीआरओ के स्तर पर सेवा और सुविधाओं की खबरें जोन की इन टीमों को भेजेगा, जो इसे निचले स्तर पर पहुंचाने का काम करेंगे।




सोशल मीडिया पर खास सक्रिय रहेगी टीम
पेशेवरों की यह टीम सीपीआरओ के दिशानिर्देशन में काम करेगी और सोशल मीडिया गतिविधियों पर खासतौर पर नजर रखेगी। फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर यह पेशेवर टीम सक्रिय रहेगी। सोशल मीडिया पर रेल यात्रियों की शिकायतों और उनके निपटारे की जानकारी इकट्ठा करने के साथ इसकी मासिक और तिमाही रिपोर्ट भी वरिष्ठ अधिकारियों को भेजी जाएगी। हर जोन में एक डैशबोर्ड भी बनाया जाएगा, जिससे रेलवे की नई सुविधाओं और पहल का प्रचार-प्रसार होगा।

Category: News

About the Author ()

Comments are closed.