केंद्र सरकार का तोहफा – घर खरीदारों को सरकार देगी राहत

| May 28, 2019

देशभर में लाखों फंसे घर खरीदारों को मोदी सरकार अपने दूसरे कार्यकाल में बड़ी राहत देने की तैयारी कर रही है। सरकार फंड की कमी से अटके हजारों आवासीय प्रोजेक्ट को पूरा करने के लिए हितधारकों से एक हफ्ते के भीतर योजना सौंपने को कहा है। .

सूत्रों ने बताया कि मोदी सरकार दूसरे कार्यकाल में सभी को घर देने के अपने लक्ष्य पर तेजी से काम करने का मन बना रही है। जिसके चलते सरकार के 100 दिनों के एजेंडा में रियल एस्टेट सेक्टर को प्राथमिकता पर शामिल करने का इरादा है। पिछले हफ्ते वित्तमंत्रालय में रियल एस्टेट कंपनियों के साथ मंत्रालय के अधिकारियों के बीच हुई एक बैठक में इस बात के संकेत मिले हैं।








सरकार ने इस सेक्टर के सभी हितधारकों से सुधार से जुड़ी योजना तैयार कर एक हफ्ते के भीतर सौंपने को कहा है। क्रेडाई और नारेड्को जैसी रियल एस्टेट कंपनियों के संगठन इस बारे में नई प्रेजेंटेशन तैयार कर रहे हैं। इसी हफ्ते वित्तमंत्रालय के साथ सभी मुद्दों पर चर्चा की जा सकती है। वित्त मंत्रालय सभी हितधारकों से बातचीत करने के बाद इन कंपनियों की दूसरे संबंधित मंत्रालयों जैसे पर्यावरण मंत्रालय और शहरी विकास मंत्रालय से बातचीत करेगी।.




एनारॉक की रिपोर्ट के अनुसार, अभी देशभर में साढ़े 5 लाख से ज्यादा घरों के पजेशन में देरी है। ये सभी प्रोजेक्ट 2013 से पहले लॉन्च हुए थे। इन घरों की कुल कीमत एनारॉक ने 4 लाख 51 हजार 750 करोड़ रुपए आंकी है। .

पिछले पांच साल के दौरान घरों के दाम में सात फीसदी का मामूली इजाफा हुआ है, जबकि इस दौरान इनकी मांग 28 फीसदी घटी है। इसी तरह घरों की आपूर्ति में इस दौरान 64% की गिरावट आई है। .




वित्त मंत्रालय कंपनियों की पैसे की किल्लत को दूर करने के खास उपाय कर सकता है। सभी मंत्रालय से बातचीत करके जुलाई में पेश किए जाने वाले नई सरकार के पूर्ण बजट में इसके खास प्रावधान संभव हैं। .

लाख से ज्यादा घरों के पजेशन में 5 से 9 सालो *ंकी देरी देशभर में .

दिन के एजेंडे में रियल एस्टेट सेक्टर को भी शामिल करने का इरादा .

Category: News

About the Author ()

Comments are closed.