रेल कर्मचारियों के बच्चों के लिए दो करोड़ 52 लाख की छात्रवृत्ति स्वीकृत

| May 11, 2019

रेल कर्मचारियों के बच्चों के लिए दो करोड़ 52 लाख की छात्रवृत्ति स्वीकृत

केन्द्रीय कर्मचारी हित निधि समिति की बैठक जबलपुर में उपमुख्य कार्मिक अधिकारी लाल सिंह की अध्यक्षता में हुई। इसमें पश्चिम मध्य रेलवे को कोटा सहित तीनों मंडलों, दोनों कारखानों व मुख्यालय में कार्यरत रेलकर्मचारियों के बच्चों को स्काॅलरशिप के रूप में 2.52 कराेड़ रुपए स्वीकृत किए हैं।







वेस्ट सेन्ट्रल रेलवे एम्पलाइज यूनियन के सहायक महामंत्री एसके भार्गव ने बताया कि पश्चिम मध्य रेलवे में ऐसे रेलकर्मचारी तथा उनके बहरे, गूंगे, मानसिक/शारीरिक रूप से दिव्यांग आश्रिताें के लिए आर्थिक सहायता के रूप में 83.90 लाख रुपए स्वीकृत किए है। कोटा सहित तीनों मंडलों, कारखानों में मनोरंजन के लिए रेलवे संस्थान के सदस्यों की सहायता राशि 10 रुपए से बढ़ाकर 25 प्रति सदस्य कर दी है।




कोटा सहित तीनों मंडलों के लिए रेलकर्मचारियों को निर्वाह प्रतिपूर्ति भत्ता के रूम में 5-5 लाख रुपए कारखानों के लिए 2-2 लाख व मुख्यालय के लिए 1 लाख रुपए स्वीकृत किए है। रेलकर्मचारियों के चश्में/दंतावली की प्रतिपूर्ति के लिए तीनों मंडलों को 3-3 लाख, कारखानों को 2-2 लाख एवं मुख्यालय को 1 लाख रुपए स्वीकृत किए है। रेलकर्मचारियों के बच्चों को गर्मियों में दार्शनिक स्थलों पर भ्रमण के लिए 3-3 लाख, तीनों मंडलों को स्वीकृत किए है। तीनों मंडलों में हाेम्योपैथिक व आयुर्वेदिक दवाखानों के लिए डाक्टर्स को मानदेय व दवाइयों के लिए 52 लाख की राशि स्वीकृत की है।

जयपुर बैंक के सदस्यों काे 3 करोड़ का लोन स्वीकृत

दी रेलवे एम्पलाइज को-आॅपरेटिव बैंक की ऋण समिति की बैठक जयपुर में शुक्रवार को हुई। बैठक में कोटा शाखा के 54 सदस्यों को विभिन्न उद्देश्यों के लिए तीन करोड़ के लोन स्वीकृत किए गए।




बैंक उपाध्यक्ष एमएस बग्गा ने बताया कि जिन सदस्यों ने ऋण आवेदन 7 मई तक दिए थे वे अपना ऋण कोटा शाखा से 13 मई को शाखा से प्राप्त कर सकते हैं।

उन्होंने बताया कि आगामी ऋण समिति की बैठक 18 मई को रखी गई है। ऋण लेने वाले सदस्य 15 मई तक ऋण आवेदन तक जमा कर 20 मई तक ऋण प्राप्त कर सकते हैं।

जबलपुर जोन में कार्यरत एेसे रेलकर्मी जिनके परिवार में दिव्यांग बच्चे हैं उनको राशि देने के प्रस्ताव पर केंद्रीय कर्मचारी हित निधि समिति ने सहमति दे दी है। पिछले चार महीने से यह मामला अटका हुआ था। समिति की स्वीकृति के बाद जोन के करीब 8 सैकड़ा दिव्यांग बच्चों को 10 हजार रुपए की राशि सालाना दी जाएगी। इसके अलावा रेलकर्मियों के करीब 52 बच्चों को जून के पहले सप्ताह में दार्जिलिंग का भ्रमण कराने का भी निर्णय लिया है।
2000 बच्चों को मिलेगी तकनीकि शिक्षा की राशि
समिति की बैठक में हुए निर्णय के मुताबिक 1800 ग्रेड पे वाले कर्मचारियों के बच्चों के लिए 18 हजार रुपए, 2400 ग्रेड पे वाले कर्मचारियों के बच्चों के लिए 15 हजार रुपए, 4200 ग्रेड पे या उससे ज्यादा वाले रेलकर्मियों के बच्चों के लिए 10 हजार रुपए की राशि तकनीकि शिक्षा के लिए दी जाएगी। जोन में ऐसे संख्या करीब 2000 है।
जोन में 830 दिव्यांग बच्चे
जबलपुर जोन के भोपाल, जबलपुर और कोटा डिवीजन में करीबन ८३० दिव्यांग बच्चे हैं। इन सभी बच्चों को समिति की तरफ से १० हजार रुपए प्रति वर्ष की राशि का भुगतान किया जाएगा। इससे रेलकर्मियों को भी अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा दिलाने में मदद मिलेगी।
&समिति ने दिव्यांग बच्चों के साथ ही तकनीकि शिक्षा हासिल करने वाले बच्चों के लिए राशि की स्वीकृति की है। जल्द ही इस राशि का भुगतान प्रारंभ किया जाएगा।
केके शुक्ला, सदस्य केंद्रीय कर्मचारी हित निधि समिति

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.