रनिंग कर्मचारियों को शीघ्र एसी कमरे मिलेंगे

| May 9, 2019

रनिंग कर्मचारियों को जल्द ही वातानुकूलित कमरे मिलेंगे। इससे कर्मचारियों की थकान जल्द दूर होगी। इसके साथ ही उनकी समस्याओं का समाधन भी जल्द होगा। बुधवार को उत्तर रेलवे डीआरएम संजय त्रिपाठी ने यह बातें कमेटी मीटिंग के दौरान कही।








उन्होंने कहा कि लोको पायलट (ड्राइवर), सहायक लोको पायलट और गार्ड के ऊपर सुरक्षा और संरक्षा के साथ हजारों यात्रियों की जिम्मेदारी है। ऐसे में इनको बेहतर सुविधाएं उपलब्ध होनी चाहिए। इस मौके पर उत्तर रेलवे लखनऊ मंडल कार्यालय के कमेटी हाल में एक कमेटी मीटिंग का आयोजन हुआ। इसमें डीआरएम ने रनिंग रूमों की सुविधा को बेहतर बनाने के लिए रूम इंचार्जों से व चालक कर्मियों से फीडबैक लिया।कहा कि पहले चरण में रनिंग रूम के कमरों को वातानुकूलित किया जाएगा। इसके बाद कर्मचारियों के रीडिंग रूम और डायनिंग हाल भी वातानुकूलित होंगे। एडीआरएम अमित श्रीवास्तव समेत अन्य उपस्थित रहे।.





रेल डाक सेवा (आरएमएस) में प्राइवेट फर्म कर्मचारियों द्वारा डाक की लोडिंग और अनलोडिंग का काम होता है। पिछले चार महीनों से इन कर्मचारियों को वेतन नहीं मिला है। इसके चलते कर्मचारी हड़ताल पर चले गए। कर्मचारियों का आरोप है कि निजी फर्म द्वारा उन्हें तय भुगतान नहीं हो रहा है। वहीं, आरएमएस अधिकारियों के मुताबिक दो तीन दिन की छुट्टी के चलते डाक इकट्ठा हो गई है। .

बता दें कि चारबाग रेलवे स्टेशन और लखनऊ जंक्शन पर रेल डाक सेवा से ट्रेनों से डाक आते-जाते हैं। ट्रेनों तक डाक पार्सल लाने और ले जाने के लिए निजी फर्म की ओर से 400 कर्मचारियों को रखा गया है। .




चार महीनों से वेतन भुगतान न होने के चलते कर्मचारियों ने मंगलवार से ही हड़ताल कर रखी है। इसके चलते चारबाग पर बने आरएमएस व प्लेटफॉर्म नंबर एक से लेकर सात तक सभी जगह डाक सेवा की डाक इकट्ठा हो गई हैं। .

कर्मचारियों की हड़ताल के चलते चारबाग रेलवे स्टेशन पर डाक का अंबार लग गया है।

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.