रेलवे के कर्मचारियों को यह भत्ता मिलने का रास्ता साफ, बढ़ जाएगा वेतन, मामला फिलहाल इलेक्शन कमिशन के पास

| May 3, 2019

रेल कर्मियों के लिए अच्छी खबर है. रेल कर्मियों को मिलने वाले रनिंग अलाउंस को सातवें वेतन आयोग के तहत दिए जाने की रेल कर्मियों की मांग को वित्त मंत्रालय ने मंजूरी प्रदान कर दी है.

रेल कर्मियों के लिए अच्छी खबर है. रेल कर्मियों को मिलने वाले रनिंग अलाउंस को सातवें वेतन आयोग के तहत दिए जाने की रेल कर्मियों की मांग को वित्त मंत्रालय ने मंजूरी प्रदान कर दी है. ऐसे में जल्द ही रेलवे के रनिंग स्टॉफ को रनिंग अलाउंस बढ़ी दरों के साथ मिलना शुरू हो जाएगा. इस संबंध में जानकारी देते हुए रेलवे के सबसे बड़े कर्मचारी संगठन ऑल इंडिया रेलवे मेन्य फेडरेशन के महामंत्री शिव गोपाल मिश्रा ने बताया कि रेल मंत्री पहले ही रेल कर्मियों को बढ़ी दरों के साथ रनिंग अलाउंस देने को ले कर सहमति जता चुके थे. क्योंकि इस मांग को पूरा करने में रेलवे को काफी पैसा खर्च करना होगा इसके लिए यह फाइल वित्त मंत्रालय के पास स्वीकृति के लिए भेजी गई थी. वित्त मंत्रालय ने भी आखिरकर रेल कर्मियों की इस मांग को स्वीकृति प्रदान कर दी है. ऐसे में रेलवे के रनिंग स्टॉफ जो जल्द ही बढ़ी दरों के साथ रनिंग अलाउंस मिलना शुरू हो जाएगा.








कर्मचारी रनिंग अलाउंस के लिए कर रहे थे संघर्ष
एआईआरएफ के महामंत्री शिव गोपाल मिश्रा ने बताया कि कर्मचारी काफी समय से रनिंग अलाउंस को सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों के तहत दिए जाने की मांग को ले कर संघर्ष कर रहे थे. बातचीत के बाद सहमति बनी लेकिन फाइल वित्त मंत्रालय के पास रुकी होने के चलते अब तक बढ़ी दर पर भत्ते कर्मियों को नहीं मिल पा रहे थे. रेल मंत्रालय वे रेलवे के कर्मचारी संगठनों के बीच वर्तमान रनिंग अलाउंस को दो गुना तक बढ़ाए जाने पर सहमित बन चुकी है. अब तक रेलवे के रनिंग स्टॉफ जैसे गार्ड, ड्राइवर आदि को प्रति 100 किलोमीटर की यात्रा के लिए लगभग 250 रुपये रनिंग अलाउंस के नाम पर मिलते थे. अब इस अलाउंस को बढ़ा कर 528 रुपये करने का निर्णय किया गया है. भत्तों में इस वृद्धि से रेलवे पर आर्थिक बोझ बढ़ेगा जिसको ध्यान में रखते हुए फाइल को अंतिम स्वीकृति के लिए वित्त मंत्रालय के पास भेजा गया था.




ट्रैक मेंटिनेंस स्टॉफ को हाल में मिली बड़ी राहत
रेल कमियों के संगठनों के दबाव के चलते रेलवे में टैक मेंटिनेंस स्टॉफ की ग्रेड रिस्ट्रक्चरिंग की मांग को सरकार ने मांग लिया. सरकार की ओर से अब नई व्यवस्था के तहत 50 फीसदी टैक मेंटिनेंस स्टॉफ 1800 के ग्रेड में होगा. वहीं 20 फीसदी स्टॉफ 1900 व 20 फीसदी स्टॉफ 2400 ग्रेड में होगा वहीं 10 फीसदी स्टॉफ को 2800 ग्रेड में रखने का निर्णय लिया गया है. रेल कर्मियों की इस मांगा को माने जाने से बड़ी संख्या में मेट व कीमैन के पदों पर काम करने वाला स्टॉफ 2800 ग्रेड में आ जाएगा.




जिन कर्मियों को नहीं मिला उन्हें जल्द मिलेगा ड्रेस अलाउंस
रेलवे की ओर से हाल ही में 7th Pay Commission के तहत कर्मचारियों को ड्रेस अलाउंस देने के निर्देश दिए थे. इसके लिए ऐसे कर्मचारियों की सूची भी तैयार कर ली गई थी जिन्हें ड्रेस एलाउंस मिलता है. कुछ कर्मियों को ड्रेस एलाउंस मिल भी गया. लेकिन कुछ को नहीं मिल सका. ऐसे में रेलवे संगठनों की ओर से रेल प्रशासन पर जल्द ड्रेस एलाउंस दिए जाने को ले कर दबाव बनाया जा रहा है. रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार जिन कर्मचारियों को ड्रेस अलाउंस मिलनी है और अब तक नहीं मिली है उनके अगले वेतन में ड्रेस एलाउंस का पैसा देने का प्रयास किया जा रहा है.

Source:- ZEE NEWS

दूसरी तरफ आल इंडिया रेलवे मेंस फेडरेशन के महासचिव क. शिव गोपाल मिश्र ने जानकारी दी है कि वित् मंत्रालय के आदेश के बाद यह मामला रेलवे बोर्ड ने इलेक्शन कमिशन के पास भेजा है और उम्मीद है कि जल्द ही रेलवे कर्मचारियों को यह बढ़ा हुआ भत्ता जल्द मिलना शुरू हो जाएगा. चुनाव अचार सहिंता लागू होने के कारण इस मामले को इलेक्शन कमिशन के पास भेजा गया है.

Category: News, Seventh Pay Commission

About the Author ()

Comments are closed.