रेलवे डीजल शेड कर्मचारियों पर बढ़ रहा रेलवे अधिकारियों का दबाव

| April 29, 2019

इटारसी। डीजल शेड के कर्मचारियों पर रेलवे अधिकारियों का दबाव दिनोदिन बढ़ता जा रहा है। अधिकारी डीजल शेड के कर्मचारियों ने एसी लोको का मेंटेनेंस करवा रहे हैं। जबकि एसी लोको के लिए टीआरएस शेड है। यूनियन का कहना है डीजल शेड में 15 कर्मचारी हैं जिनसे 45 एसी लोको का मेंटेनेंस कराया जा रहा है जिससे कर्मचारी खासे परेशान हैं। इसके लिए वेस्ट सेंट्रल रेलवे इम्प्लाइज यूनियन एक सप्ताह से डीजल शेड में निरंतर प्रदर्शन कर रही है।








शनिवार को भी प्रदर्शन डीजल शेड में जारी रहा है। इस बीच डीजल लोको शेड में यूनियन के महामंत्री मुकेश गालव पहुंचे और प्रदर्शन में अपना समर्थन दिया साथ ही रैली निकालकर विरोध भी दर्ज कराया। रेल कर्मचारियों चर्चा कर महामंत्री गालव आक्रोश रैली में शामिल हुए। महामंत्री गालव ने कहा कि रेलवे कर्मचारियों की मांगे अगर 29 मई तक पूरी नहीं हुई तो डीजल शेड का टूल डाउन किया जाएगा।




एक दिन की शपथ के बाद भी मिलती है पेंशन
डीजल शेड में कर्मचारियों से चर्चा करने के बाद महामंत्री गालव ने युनियन कार्यालय में पदाधिकारियों व सदस्यों ने चर्चा की। इस दौरान उन्होंने बताया कि एनपीएस बंद करना यूनियन की एक प्रमुख मांग है। लेकिन सरकार इस पर कोई निर्णय नहीं ले रही है। संसद में एक दिन की शपथ लेने के बाद सांसद भी पेंशन का हकदार हो जाता है लेकिन 30-35 साल नौकरी करने वाले को पेंशन का अधिकार नहीं है। उन्होंने कहा कि इस संबंध में 01 मई को अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस पर देशभर में एनपीएस के विरोध में कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। इस दौरान मंडल सचिव फिलिप ओमन, उपाध्यक्ष राजेश श्रीवास्तव, मनोज जोसफ, जावेद खान, मनोज रैकवार, घनश्याम दुगया सहित अन्य पदाधिकारी व सदस्य मौजूद थे।




सीनियर डीएमई को डीआरएम ने लिखा पत्र

कर्मचारियों के 22 अप्रैल से जारी प्रदर्शन को देखते हुए डीआरएम ने शेड के सीनियर डीएमई को पत्र लिखा है। पत्र के माध्यम से बैठक आयोजित कर कर्मचारियों की समस्या सुनने व उनका समाधान करने के निर्देश दिए गए हैं। हालांकि पत्र में बैठक की कोई तिथि निर्धारित नहीं की गई है। यही कारण है कि कर्मचारी भी इसे लेकर असमंजस्य में हैं।

इनका कहना है :- डीजल शेड के कर्मचारियों की समस्या के निराकरण के लिए यूनियन द्वारा प्रदर्शन किया जा रहा है। यदि कर्मचारियों की समस्या का निराकरण नहीं होता है तो २९ अप्रैल से शेड में टूल डाउन किया जाएगा।

Source:- Patrika

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.