कीमैन की सूझबूझ से टला बड़ा ट्रेन हादसा, रेलवे पटरी काटकर ट्रेन को पलटाने की थी साजिश!

| April 27, 2019

आंध्र प्रदेश के कृष्णा जिले में शुक्रवार को एक बड़ा ट्रेन हादसा टल गया। ये हादसा रेलवे पटरी कटने की वजह से होने वाला था। हालांकि वक्त पर रेलवे कर्मचारी (कीमैन) ने कटी हुई पटरी देख ली। उसने तुरंत अधिकारियों को अलर्ट कर दिया। इसके कुछ देर बाद ही वहां से पुरी-तिरुपति एक्सप्रेस (17479) ट्रेन गुजरने वाली थी। कंट्रोल रूम से ट्रेन ड्राइवर को तुरंत अलर्ट जारी किया गया।








ट्रेन ड्राइवर ने अलर्ट मिलते ही आपातकालीन ब्रेक लगाकर ट्रेन रोक दी। तब तक ट्रेन कटी हुई पटरी के एकदम करीब पहुंच चुकी थी। ट्रेन और क्षतिग्रस्त पटरी के बीच महज कुछ मीटर का फासला बचा था, इसलिए ड्राइवर को एमरजेंसी ब्रेक लगाने पड़े।

उधर ट्रेन में एमरजेंसी ब्रेक लगते ही उसमें सवार यात्रियों में खलबली मच गई। काफी संख्या में आसपास के लोग भी मौके पर एकत्र हो गए हैं। सूचना पाकर रेलवे अधिकारी और स्थानीय पुलिस मौके पर पहुंची है। अधिकारियों के अनुसार जिस तरह से पटरी कटी हुई है, उससे साफ है कि पटरी को जान-बूझकर काटा गया है।




पटरी को कब और किसने काटा है, इसकी जांच कराई जा रही है। अधिकारी ये भी पता लगाने में जुटे हैं कि पटरी काटने के पीछे कहीं कोई गहरी साजिश तो नहीं है। अधिकारियों के अनुसार अगर समय रहते पटरी कटी होने की जानकारी  न मिलती तो बड़ा हादसा हो सकता है। ट्रेन उस वक्त काफी रफ्तार में थी। ऐसे में काफी जान-माल का नुकसान होने की आशंका थी।




पटरी की कराई जा रही मरम्मत
रेलवे अधिकारियों के अनुसार पटरी टूटी हुई होने के कारण उस रूट पर फिलहाल ट्रेनों का आवागमन रोक दिया गया है। इससे रेल सेवा प्रभावित हुई है। अधिकारियों ने बताया कि फिलहाल पटरी की अस्थाई मरम्मत कर पुरी-तिरुपति एक्सप्रेस (17479) ट्रेन को निकाल दिया गया है। पटरी के क्षतिग्रस्त हिस्से को काटकर उसकी स्थाई मरम्मत कराई जा रही है। कुछ देर में रेल रूट सामान्य होने की उम्मीद है।

पूर्वा एक्‍सप्रेस के 12 डिब्‍बे पटरी से उतरे
हाल ही में पिछले हफ्ते पूर्वा एक्‍सप्रेस के 12 डिब्‍बे पटरी से उतरे गए। कानपुर के नजदीक रूमा गांव में यह बड़ा ट्रेन हादसा हुआ। यह ट्रेन हावड़ा से दिल्‍ली आ रही थी। ये ट्रेन हादसा देर रात 1 बजे हुआ, जब ज्‍यादातर यात्री गहरी नींद में सो रहे थे। हालांकि, इस ट्रेन हादसे में किसी के भी मारे जाने की खबर सामने नहीं आई थी। 50 से 60 यात्रियों को इस हादसे में चोट आई थी, वहीं एक को गंभीर चोट बताई गई थी। घायलों को नजदीकी अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था। हालांकि इस हादसे की वजह साफ नहीं हो पाई थी।

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.