रेलवे बोर्ड तीन तरह के पदों का करेगा मर्जर, जानिए- किन लाखों कर्मचारियों पर पड़ेगा असर

| April 16, 2019

Indian Railways तीन तरह के पदों का करेगा मर्जर, जानिए- किन लाखों कर्मचारियों पर पड़ेगा असर, रेलवे चेकिंग स्टाफ (टीसी), कॉमर्शियल क्लर्क, और इन्कवायरी कम रिजर्वेशन क्लर्क (ईसीआरसी) के पदों को एक में मिलाने पर विचार कर रहा है। नए भर्तियों के तहत शामिल कर्मचारियों को तीनों कामों का प्रशिक्षण दिया जाएगा।








रेलवे अपने लाखों कर्मचारियों के पदों को लेकर बहुत बड़ा बदलाव करने जा रहा है। रेलवे बोर्ड ने शुक्रवार को 7th pay commission report की सिफारिशों को मंजूरी देते हुए तीन कैटेगरी के पदों को एक में मिलाने का सुझाव दिया है।

जी बिजनेस की खबर के अनुसार जिन पदों को एक में मिलाने की बात कही गई है उसमें कॉमर्शियल विभाग के टिकट चेकिंग स्टाफ(टीसी), कॉमर्शियल क्लर्क (सीसी) और इन्कवायरी कम रिजर्वेशन क्लर्क (ईसीआरसी) शामिल है।

इस कदम को रेलवे की तरफ से 22 फरवरी 2018 को जारी अधिसूचना के संदर्भ में देखा जा रहा है। हालांकि, कर्मचारियों के पदों को एक करने का शुरुआती फार्मूला अभी नहीं दिया गया है। रेलवे कर्मचारियों की तरफ से इसे अच्छा कदम नहीं माना जा रहा था।

इसके बाद रेलवे ने कर्मचारियों के हित में एक अन्य प्रस्ताव पेश किया है। रेलवे के मौजूदा कर्मचारी जिनमें चेकिंग स्टाफ (टीसी), कॉमर्शियल क्लर्क, और इन्कवायरी कम रिजर्वेशन क्लर्क (ईसीआरसी) शामिल हैं, एक ही समेकित श्रेणी के अंतर्गत आएंगे।




उल्लेखनीय है कि इससे उनके मौजूदा ड्यूटी में कोई बदलाव नहीं होगा। हालांकि, जिन नए लोगों की नियुक्ति की जाएगी उन्हें टीसी, सीसी और ईसीआरसी में कोई भी काम दिया जा सकता है। नॉर्दन रेलवे मेन्ज यूनियन (एनआरएमयू), दिल्ली डिवीजन कर्मचारी यूनियन के महासचिव अनूप शर्मा ने कहा कि मौजूदा कर्मचारी जिस तरह से काम कर रहे हैं उसी तरह से काम करते रहेंगे।

इससे उनकी पदोन्नित, वरिष्ठता और अन्य चीजों में कोई बदलाव नहीं होगा। हालांकि, नई भर्तियों के तहत शामिल कर्मचारियों को कैसे काम करना होगा इसके बारे में इन पदों के मर्जर के बाद स्थिति स्पष्ट हो पाएगी।




इससे पहले रेलवे को कॉमर्शियल क्लर्क को टिकट बुकिंग के लिए और इसी तरह से टिकट बुकिंग करने वाले को कॉमर्शियल क्लर्क का काम करने के लिए तैनात करने पर समस्याओं का सामना करना पड़ा था।

इसे देखते हुए नए स्टाफ को इन सभी कामों के लिए प्रशिक्षित किया जाएगा। इससे वे तीनों श्रेणी में किसी का भी काम कर सकेंगे। आमतौर पर कॉमर्शियल क्लर्क, टिकट चेकिंग क्लर्क और टिकट बुकिंग क्लर्क के कामों में कई समानता हैं। इसके बावजूद कर्मचारियों की तरफ से पदोन्नति, पोस्टिंग और वरिष्ठता को लेकर कई केस दायर किए गए हैं। पदों का मर्जर होने के बाद से यह मुद्दा खत्म हो जाएगा।

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.