रेलवे कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर – वेरी गुड नहीं गुड लिखने पर भी रेलवे में प्रमोशन

| April 14, 2019

रेलवे कर्मचारियों के लिए गुड न्यूज। अब प्रमोशन के लिए उन्हें वेरी गुड का इंतजार नहीं करना होगा। सिर्फ गुड लिखे होने पर भी प्रोन्नति मिल जाएगी। शनिवार को हुई नेशनल काउंसिल की बैठक में वर्षो पुरानी बाध्यता को समाप्त करने का आदेश कैबिनेट सचिव ने रेल मंत्रलय को दे दिया। इस निर्णय से धनबाद समेत देशभर के रेल कर्मचारियों में उत्साह का माहौल है।








मॉडिफाइड अस्योर्ड कॅरियर प्रोग्रेशन स्कीम यानी एमएसीपी के तहत प्रोन्नति पाने वाले कर्मचारियों के लिए अब तक वेरी गुड की बाध्यता थी। जब तक वेरी गुड नहीं लिखा जाता था, तब तक प्रोन्नति का दरवाजा नहीं खुलता था, अब ऐसा नहीं होगा।इस फैसले का ईस्ट सेंट्रल रेलवे कर्मचारी यूनियन ने स्वागत किया है। डीके पांडेय, एनके खवास, टीके साहु, एके दां, आरके सिंह, तपन विश्वास, संजय सिंह, राजेश राउत, एके दास,एस चटर्जी आदि हैं।




धनबाद : रांची से भागलपुर जानेवाली वनांचल एक्सप्रेस 30 जून से धनबाद होकर चलेगी। अभी 14 कोच के साथ चल रही इस टेन को 24 कोच के साथ चलाया जाएगा। रेलवे यात्रियों की मांग और रोजाना होनेवाली भीड़ को देखते हुए रेलवे ने 10 कोच बढ़ाने का विकल्प तलाशना शुरू कर दिया है।

हजारों यात्रियों को इससे मिलेगी राहत : वनांचल एक्सप्रेस में कोच बढ़ने से सिर्फ रांची ही नहीं, बल्कि बोकारो, धनबाद और आसपास के हजारों यात्रियों को राहत मिलेगी।

15 जून 2017 को धनबाद से छिनी थी ट्रेन : धनबाद-चंद्रपुरा रेललाइन बंद होने के कारण 15 जून 2017 को वनांचल एक्सप्रेस धनबाद छिन गई थी। पहले रद किए जाने के बाद इसे रांची से महुदा-आसनसोल वाले रूट पर चलाने की मंजूरी मिली। अब एक बार फिर धनबाद होकर चलेगी।




30 जून से 24 कोच के साथ चल सकती है वनांचल एक्सप्रेस

अंडाल के बजाय दुर्गापुर में होगा इंजन रिवर्सल

रेलवे के जानकारों का कहा है कि बिहार जानेवाले यात्रियों के लिए वनांचल एक्सप्रेस में कोच बढ़ना बेहद जरूरी है। इसके लिए बहुत ज्यादा तकनीकी समस्या भी नहीं आएगी। जिस तरह अन्य 24 कोच की टेनें इंजन रिवर्सल यानी इंजन बदलने के लिए दुर्गापुर तक जाती हैं। ठीक उसी तरह वनांचल एक्सप्रेस को अंडाल के लिए दुर्गापुर से इंजन रिवर्सल करना होगा।

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.