रेलवे अफसरों को कैडर पुनर्गठन की सौगात

| February 21, 2019

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने आम चुनाव से पहले रेल अफसरों के कैडर में पुनर्गठन तोहफा दिया है। रेलवे सेवा के कैडर पुनर्गठन से 900 अफसरों को फायदा होगा। साथ ही सुरक्षित ट्रेन परिचालन के लिए पहली बार रेलवे में डायरेक्टर जनरल-सेफ्टी का नया पद सृजित किया गया है।.








रेल मंत्रालय के अधिकारियों ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में कैबिनेट कमेटी ने मंगलवार को रेलवे के उपरोक्त प्रस्तावों को मंजूरी दे दी है। उन्होंने कहा कि रेलवे सेवा के कैडर पुनर्गठन का प्रस्ताव 2012 से लंबित था। मोदी सरकार में कैडर पुनर्गठन व रेलवे बोर्ड के पुनर्गठन का काफी समय से चर्चा चल रही थी। कैबिनैट की मंजूरी के बाद रेलवे की अकांउट सेवा, पर्सनल सेवा, ट्रैफिक सेवा, इंजीनियरिंग सेवा, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग सेवा, मैकेनिकल इंजीनियरिंग सेवा, स्टोर सेवा व सिग्नल एंड टेलीकॉम सेवा के 900 अफसरों को फायदा मिलेगा। कैडर पुनर्गठन से नए पदों का सृजन होगा, समय पर प्रमोशन मिलेगा और अफसरों का कैरियर बेहतर बनेगा। .




रेलवे बोर्ड में नव सृजित पद सदस्य-एस एंड टी के पास ट्रेन टक्कर रोधी उपकरण लगाने जैसी महत्वपूर्ण परियोजनाएं होंगी। पहले यह काम दूसरे सदस्य देखते थे इस कारण पिछले डेढ़ दशक में टक्कर रोधी उपकरण लगाने की एक भी योजना पूरी नहीं हो सकी है। इसके अलावा डीजी-सेफ्टी के नया पद सृजन होने से ट्रेन दुर्घटनाओं की रोकथाम संबंधी उपाय लागू करने के काम तेजी से अमल हो सकेंगे।.




केंद्र सरकार ने रेलवे बोर्ड का पुनर्गठन और विस्तार किया है। रेलवे बोर्ड में एक सदस्य सिग्नल और दूरसंचार और एक सदस्य सामग्री प्रबंधन को शामिल किया गया है। कैडर पुनर्गठन में डायरेक्टर जनरल-एस एंड टी के पद को समाप्त कर रेलवे बोर्ड सदस्य एस एंड टी में बदल दिया गया है। यानी सिग्नल एंड टेलीकॉम के अफसर डीजी एस एंड टी के बजाए रेलवे बोर्ड के सदस्य बन सकेंगे।

 

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.