रेलवे का तोहफा, लोको पायलट और गार्ड का रनिंग अलाउंस किया दोगुना

| January 18, 2019

नए साल में रेलवे (Railway) के एक लाख से अधिक लोको पायलट, सहायक लोको पायलट व गार्ड (रनिंग स्टाफ) को बढ़ी हुई रनिंग अलाउंस की सौगात मिलने जा रही है। रेलवे बोर्ड ने डेढ़ साल की जद्दोजहद के बाद रनिंग स्टाफ का अलाउंस दो गुना कर दिया है। इससे ट्रेनों-मालगाड़ियों के लोको पायलट व गार्ड की प्रति माह 12,000 से 25,000 रुपये कमाई बढ़ जाएगी। हालांकि इस फैसले से पहले से घाटे में दौड़ रही रेलवे पर वित्तीय बोझ भी पड़ेगा।








रेल मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि रेलवे बोर्ड ने ड्राइवर-गार्ड का रनिंग अलाउंस 255 रुपये (प्रति 100 किलोमीटर) से बढ़ाकर 525 रुपये कर दिया है। रेलवे के विभिन्न श्रेणी के कर्मचारियों को अलाउंस जुलाई 2017 में दे दिया गया था। लेकिन रनिंग स्टाफ को लेकर रेल यूनियन (रनिंग स्टाफ) व रेलवे बोर्ड में खींचतान चल रही थी। 2016 में अलाउंस कमेटी की सिफारिश पर जून 2018 में रेलवे बोर्ड ने रनिंग अलाउंस को दोगुना करने का आदेश दे दिया।




अधिकारी ने बताया कि इसी माह रेलवे बोर्ड के उक्त फैसले पर वित्त मंत्रालय की मुहर लग जाएगी। इसके बाद ड्राइवर-गार्ड को बढ़े हुए अलाउंस मिलने शुरू हो जाएगा। इसमें मेल-एक्सप्रेस, राजधानी, शताब्दी, सुपर फास्ट ट्रेनों व मालगाड़ी के लोको पायलट व गार्ड को प्रत्येक 100 किलोमीटर चलने पर 525 रुपये मिलने शुरू हो जाएंगे। इस प्रकार एक लोको पायलट-गार्ड प्रति माह 12,000 से 25,000 रुपये (कनिष्ठ व वरिष्ठ के अनुसार) अधिक कमाई करेगा। उन्होंने बताया कि यात्री ट्रेनों व मालगाड़ी के लोको पायलट व गार्ड के रनिंग अलाउंस में एक अथवा दो रुपये का अंतर होता है।




जानकारों का कहना है कि इस फैसले रेलवे पर सालाना 2400 करोड़ से अधिक वित्तीय बोझ पड़ेगा। जबकि रेलवे का अप्रैल 2018 से लगतार ऑपरेटिंग अनुपात 100 से 117 फीसदी चल रहा है। यानी रेलवे 100 रुपये कमाने पर 117 रुपये खर्च कर रही है। ऐसे में 2400 करोड़ रुपये का अतिरिक्त बोझ पड़ने से रेलवे का ऑपरेटिंग रेशियो 2.5 फीसदी तक बढ़ जाएगा। लेकिन चुनावी साल होने के कारण सरकार कर्मचारियों की नाराजगी मोल नही लेना चाहेगी।

1.40 लाख तक वेतन
सूत्रों का कहना है कि एक वरिष्ठ लोको पायलट रनिंग अलाउंस सहित हर महीने 1.10 लाख से 1.40 लाख रुपये वेतन उठाता है। जबकि शुरुआत में सहायक लोको पायलट कम से कम 30,000 से अधिक वेतन पता है। सहायक लोको पायलट की शैक्षिक योग्यता दसवीं और आईटीआई मात्र है।

Source:- Live Hindustan

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.