खाली सीट तुरंत वेटिंग टिकट वाले यात्रियों को मिलेगी

| December 8, 2018

पांच शताब्दी और दो राजधानी ट्रेन में यात्रा टिकट परीक्षक (टीटीई) को हैंड हेल्ड टर्मिनल दिए गए हैं। इन ट्रेन में अब कोई सीट खाली होगी तो टीटीई को तुरंत पता चल जाएगा। इसे वह वेटिंग टिकट वाले यात्रियों को आवंटित कर देगा। .








आरएन सिंह (रेल प्रबंधक, दिल्ली मंडल) के मुताबिक, अभी तक चार्ट बनने और ट्रेन छूटने के बाद यदि यात्री टिकट रद्द कराता है तो टीटीई को उसकी जानकारी तुरंत नहीं मिल पाती। टीटीई अगले दो स्टेशनों तक टिकट रद्द हुआ या नहीं उसका इंतजार करते हैं। लंबी दूरी के ठहराव वाली ट्रेनों में तो इस बारे में ओर देरी से पता चलता है। इस बीच यदि सीट खाली भी होती है तो भी इसका फायदा वेटिंग टिकट वाले यात्री को नहीं मिल पाता। अब यह समस्या दूर हो जाएगी। पहले चरण में यह हैंड हेल्ड टर्मिनल शताब्दी और राजधानी में दिए गए हैं। बाद में इसे मेल, एक्सप्रेस ट्रेन के टीटीई को भी दिया जाएगा।.








भ्रष्टाचार पर नकेल : सात ट्रेनों में कुल 180 टर्मिनल दिए गए हैं। इनके इस्तेमाल से काम में पारदर्शिता बढ़ेगी। टीटीई रुपये लेकर मनमाफिक तरीके से किसी को भी सीट नहीं दे सकेंगे।

‘ शताब्दी : काठगोदाम शताब्दी, लुधियाना शताब्दी, अमृतसर शताब्दी, देहरादून शताब्दी, गतिमान एक्सप्रेस .

‘ राजधानी : चेन्नई राजधानी एक्सप्रेस, गोवा राजधानी एक्सप्रेस .

टीटीई को दी गई हैंड हेल्ड टर्मिनल मशीन रेलवे के मुख्य सर्वर से जुड़ी हुई हैं। इससे चलती ट्रेन में कोई भी टिकट रद्द होने पर उसका डाटा तुरंत अपडेट हो जाएगा और वेटिंग वाले का टिकट कंफर्म हो जाएगा। इससे टीटीई ट्रेन छूटने के साथ ही वेटिंग टिकट पर सफर करने वाले यात्री को सीट दे सकेगा।.

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.