ट्रेनों के परिचालन में स्टेशन मास्टरों की भूमिका अहम : सिन्हा ऑल इंडिया स्टेशन मास्टर्स एसोसिएशन का महासम्मेलन

| November 29, 2018

रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा कहा कि स्टेशन मास्टर ही वह कैडर है, जो भारतीय रेलवे का प्रतिनिधित्व करता है और ऑल इंडिया स्टेशन मास्टर्स एसोसिएशन ही ऐसा संगठन है जो रेल हित के विकास के लिए संकल्परत है। ट्रेनों के परिचालन में स्टेशन मास्टरों की भूमिका अहम है। उन्होंने कार्यक्रम का शुभारंभ किया।








ऑल इंडिया स्टेशन मास्टर्स एसोसिएशन का महासम्मेलन एवं 48वीं द्विवार्षिकी आम सभा का शुभारंभ मंगलवार को तालकटोरा स्टेडियम में शानदार तरीके से प्रारंभ हुआ। पूरे देश से आए 3000 से अधिक स्टेशन मास्टर्स इस सम्मेलन के साक्षी बने। सभी स्टेशन मास्टरों ने स्टेडियम में सफेद यूनिफॉर्म में उपस्थित होकर अनुशासित होने का अद्भुत नजारा प्रस्तुत किया। रेलवे के 68 मंडलों के 7500 स्टेशनों के स्टेशन मास्टर तालकटोरा स्टेडियम में प्रतिनिधि के तौर पर उपस्थित थे।




सम्मेलन को चेयरमैन रेलवे बोर्ड अश्वनी लोहानी, मुख्य परिचालन प्रबंधक राजीव सक्सेना, चेयरमैन पैसेंजर सर्विस कमेटी (रेलवे बोर्ड) रमेश चंद्र रत्न, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष भाजपा श्याम जी जाजू, भारी उद्योग मंत्री बाबुल सुप्रियो, महासचिव एआईआरएफ शिवगोपाल मिश्रा, महामंत्री आरके उन्नीकृष्णन, पूर्व राज्य मंत्री उत्तराखंड सच्चिदानंद पोखिरयाल आदि अधिकारियों/ नेताओं ने सम्बोधित किया।चेयरमैन रेलवे बोर्ड अश्वनी लोहानी ने कहा कि स्टेशन मास्टर ही वह चेहरा है, जो गांवों, कस्बों, शहरों में एक प्रतिष्ठित नाम होता है।




उन्होंने स्टेशनों पर अच्छी सफाई व्यवस्था के लिए स्टेशन मास्टरों की भूमिका की सराहना की। साथ ही रेलवे में स्थितियों को सुधारे जाने पर बल दिया और बेहतर वातावरण देने की प्रतिबद्धता दिखाई। अंत में बाबुल सुप्रियो ने स्टेशन मास्टरों के साथ अपने जीवन के अनुभव साझा किए। स्टेशन मास्टर के इस कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण सफेद यूनिफॉर्म में उपस्थित होना रहा। कार्यक्रम में महिला स्टेशन मास्टरों की सहभागिता भी देश के विभिन्न स्टेशनों से हुई।

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.