रेलवे बोर्ड चेयरमैन रेल के एक डिब्बे की ट्रेन से बांदीकुई पहुंचे

| November 15, 2018

रेलवे के जीएम हो या डीआरएम जब भी बांदीकुई जंक्शन का निरीक्षण करने आए तो वे हमेशा अधिकारियों की फौज व…

रेलवे के जीएम हो या डीआरएम जब भी बांदीकुई जंक्शन का निरीक्षण करने आए तो वे हमेशा अधिकारियों की फौज व सुरक्षाकर्मियों से घिरे नजर आते रहे हैं। इतना ही नहीं कई बार तो 15 डिब्बों की स्पेशल ट्रेन से यहां पहुचते रहे हैं। लेकिन बुधवार को रेलवे में सबसे बडे पद पर तैनात रेलवे बोर्ड चेयरमैन अश्वनि लोहानी इन सब से दूर नजर आए। चेयरमैन लोहनी एक डिब्बे की ट्रेन से बांदीकुई जंक्शन पहुंचे और 40 मिनट तक जंक्शन का निरीक्षण किया। सबसे ज्यादा तो वे बडी सादगी से यहां तैनात रेल कर्मचारियों से मिले और उनकी समस्याओं को जाना।








सुबह 9 बजे रेलवे बोर्ड चेयरमैन अश्वनि लोहानी बांदीकुई जंक्शन पहुंचे। इस दौरान चेयरमैन सबसे पहले लोको लॉबी पहुंचे। यहां व्यवस्थाओं का जायजा लिया। साथ ही मुख्य लोको निरीक्षक आरसी जैन से आवश्यक जानकारी ली। वे यहां करीब 10 मिनट तक रुके। लोको में साफ सफाई को भी देखी। इसके बाद चेयरमैन लोहानी, जीएम टीपी सिंह व डीआरएम सौम्या माथुर के साथ प्लेटफार्म एक पहुंचे। उन्होंने यहां टिकट विंडो, हैडी टीसी कक्ष, वीआईपी रुम, एएसएम रुम, आरपीएफ थाना, सीटीआई ऑफिस में अंदर घुसकर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। प्रथम प्रवेशद्वार पर स्टेशन की सौंर्दयकरण व्यवस्था को भी देखा। इसके बाद वे रेलवे ओवरब्रिज पहुंचे जहां से पूरे स्टेशन के नजारे को देखा।




चेयरमैन से हाथ मिलाया तो हुए गद्‌गद 

रेल अधिकारियों के निरीक्षण के दौरान हमेशा अधिकारियों के पीछे चलकर उनकी फटकार से बचते रहने वाले रेलकर्मियों से बुधवार को जब रेलवे बोर्ड चेयरमैन अश्वनि लोहानी ने हाथ मिलाया तो कर्मचारी गदगद हो उठे। निरीक्षण के दौरान चेयरमैन लोहानी यहां जंक्शन के प्लेटफार्म एक पर संचालित ऑफिस में गए और यहां तैनात अधिकारियों को बुलाकर उनसे हाथ मिलाया तथा हाल चाल जाने। इस दौरान उन्होंने उनसे समस्याओं को भी पूछा।




इस नजारे को देख अधिकारियों का कहना था कि जंक्शन का निरीक्षण करने आने वाले अधिकारी हाथ मिलाना तो दूर की बात वे हमेशा उनसे सवाल जबाब करते थे, छोटी सी कमी मिलने पर फटकार लगाते थे। लेकिन पहली बार देखा कि रेलवे बोर्ड चेयरमैन ने उनसे आत्मीयता से बातचीत की। रेलवे बोर्ड चेयरमैन अश्वनि लोहानी ने अपने निरीक्षण के दौरान हैडी टीसी धीरेंद्र सिंह सवाल-जवाब करते हुए उनकी कार्यप्रणाली को जाना तो उनके द्वारा सर्वाधिक बिना टिकट यात्रियों के खिलाफ कार्रवाई करने पर तथा लोको लॉबी में रेल संचालन से जुडे सवालों का जबाब ठीक प्रकार से देने पर मेल लोको पायलट राजकुमार शर्मा को रेलवे बोर्ड चेयरमैन ने 5-5 हजार रुपए के अवार्ड देने की घोषणा की।

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.