आईआरसीटीसी निदेशक को 60 दिन में रिपोर्ट सौंपने के निर्देश

| November 15, 2018

प्रतिस्पद्र्धा आयोग ने रेलवे टिकटों की बुकिंग के दौरान पांच रुपये के गुणांकों में ‘राउंडिंग आफ’ कर कथित रूप से ज्यादा राशि वसूलने जांच करने का आदेश दिया है। आयोग ने आईआरसीटीसी के निदेशक से कहा कि वह 60 दिन में अपनी जांच रिपोर्ट आयोग के सामने रखें। .








प्रत्येक टिकट का अलग हिसाब.

आयोग ने यह आदेश दो यात्रियों- मीत शाह और आनंद रंधावा ने दी थी। उन्होंने कहा कि आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर ऑनलाइन टिकट बुक कराने पर उन्हें पांच रुपये के गुणांक में राउंडिंग आफ कर दिया जाता है। उदाहरण के तौर पर यदि किराया 552 है तो आप से 555 रुपये ही वसूले जाएंगे। यहां तक कि यदि एक ही यात्रा के कई टिकट बुक कराए जाएं तो भी राउंडिंग आफ हर टिकट पर अलग से लिया जाता है, जिससे उपभोक्ता से काफी पैसा अतिरिक्त ले लिया जाता है। .




सात की जगह 10 रुपये वसूलते हैं.

उन्होंने कहा कि यदि सात रुपये वाले चार टिकट बुक करवाए जाएं तो कुल राशि 28 रुपये पर ही राउंडिंग आफ लगाकर 30 रुपये लेने चाहिए। लेकिन ऐसा नहीं होता हर टिकट पर अलग से राउंडिंग आफ करके पैसे वसूले जा रहे हैं। इस प्रकार सात रुपये का एक टिकट 10 रुपये में देकर चार टिकट 40 रुपये में दिए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि आनलाइन लेन-देन में राउंडिंग आफ करने की जरूरत ही नहीं है। क्योंकि ई पेमेंट में रुपये और पैसे आसानी से काटे जा सकते हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि रेलवे ने इसके जरिए 18 करोड़ रुपये कमा लिए हैं। क्योंकि रेलवे का बाजार में वर्चस्व है उसकी प्रतिस्पद्र्धा में कोई और कंपनी नहीं है। .




प्रतिस्पद्र्धा आयोग रेलवे की इन दलीलों से सहमत नहीं हुआ। आयोग के अध्यक्ष सुधीर मित्तल, सदस्य आगस्टीन पीटरऔर यूसी नाहटा ने कहा कि राउंडिंग आफ बिना किसी तार्किक कारण के किया जा रहा है। महानिदेशक को आदेश दिया जाता है कि वह जांच कर मामले की रिपोर्ट 60 दिन में आयोग के समक्ष रखें। .

सुनवाई के दौरान आईआरसीटीसी और रेलवे ने इसका बचाव किया तथा कहा कि रेलवे ऐक्ट की धारा 30 में इसके बारे में प्रावधान है। रेलवे की संचालन लागत बहुत ज्यादा है और लोगों को टिकट बहुत अधिक सब्सिडी पर दिया जाता है। वहीं राउंडिंग आफ करने से समय की बचत होती है तथा बुकिंग प्रक्रिया तेजी से निपट जाती है।.

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.