Job of Gateman of Railways turning out to be toughest

| September 18, 2018

रेलवे का फाटक नहीं खोलने से नाराज तीन युवकों ने एक रेलवे गेटमैन कुंदन पाठक व उनके मित्र चंदन कुमार की दोनों हाथों की कलाइयां काट डालीं। घटना रविवार देर रात की है। वारदात को दिल्ली-अंबाला रेलवे लाइन पर राठधाना-गन्नौर रेलवे स्टेशन के बीच साफियाबाद रेलवे फाटक पर अंजाम दिया गया। दोनों बिसनपुर, जिला बांका (बिहार) के निवासी हैं। कुंदन को रोहिणी (दिल्ली) के एक अस्पताल में लाया गया, जहां पांच घंटे चले ऑपरेशन के बाद कुंदन की कलाइयां जोड़ दी गईं।








उधर, चंदन की स्थिति गंभीर है। वह राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती हैं। कुंदन साफियाबाद स्थित फाटक नंबर-19 पर तैनात थे। वह साफियाबाद में ही किराये पर रहते हैं। रविवार को उनके मित्र चंदन कुमार उनके पास आए थे। रात करीब साढ़े 11 बजे कुंदन चंदन के साथ ड्यूटी पर आए। रात एक बजे मोटरसाइकिल पर आए तीन बदमाशों ने कुंदन से गेट खोलने को कहा। जब उन्होंने मना कर दिया तो बदमाशों ने दोनों की कलाइयां काट डालीं और फरार हो गए। थोड़ी देर बाद वहां से गुजर रहे एक राहगीर की नजर उन पर पड़ी।

राहगीर ने वहां से गुजर रही मूरी एक्सप्रेस ट्रेन को रुकवाया और मामले से चालक को अवगत कराया। गंभीर रूप से घायल दोनों को सोनीपत स्टेशन पहुंचाया गया, जहां से उन्हें दिल्ली रेफर कर दिया गया।




जीआरपी थाना प्रभारी ताराचंद ने बताया कि रेलवे अधिकारी के बयान पर अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। उधर, वारदात के साथी कर्मचारी भड़क गए। सोमवार सुबह साढ़े नौ बजे गेटमैन, ट्रैकमैन व अन्य रेल कर्मियों ने रोष जाहिर करते हुए साफियाबाद के पास रेलवे ट्रैक को जाम कर दिया। मौके पर पहुंचे सहायक मंडल रेल प्रबंधक (परिचालन) राजीव धनखड़ भी पहुंचे।

समाचार एजेंसी पीटीआइ के मुताबिक, बदमाश जबरन और गैरकानूनी ढंग से फाटक खोलने के लिए कह रहे थे, लेकिन कुंदन पाठक ने ऐसा करने से साफ इनकार दिया। इससे नाराज बदमाशों ने ऐसी दुस्साहसिक घटना को अंजाम दिया। सुबह जब साथी कर्मचारियों का घटना की जानकारी हुई तो उन्होंने हंगामा करते हुए रेलवे ट्रैक जाम कर दिया। यहां तक कि रेलवे कर्मचारियों ने दिल्ली-चंडीगढ़ रेलवे ट्रैक को भी जाम कर दिया। इसके साथ ही साफ़ियाबाद फाटक पर भी जाम लगा दिया। इसके चलते आम्रपाली एक्सप्रेस, गीता जयंती एक्सप्रेस और शताब्दी समेत कई ट्रेनों को फाटक पर रोका गया।




इसके चलते दिल्ली-चंडीगढ़ आन-जाने वाली सभी गाड़िया रोकी गई। अप्रिय घटना के अंदेशे के चलते घटना स्थल पर भारी पुलिस बल तैनात रहा।

रेलवे से मिली जानकारी के मुताबिक, कुंदन पाठक को घायल अवस्था में दिल्ली के रोहिणी में अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बदमाशों ने कुंदन के न केवल हाथ काटे, बल्कि गर्दन और पैरों पर भी धारदार हथियारों से हमला किया। घटना के बारे में रेलवे अधिकारियों का कहना है कि रविवार रात को तीन बदमाश एक मोटरसाइकिल से जा रहे थे। इस दौरान रेलवे क्रॉसिंग पर फाटक बंद होने की स्थिति में गेट खोलने के लिए कहा, जबकि इस दौरान मूरी एक्सप्रेस के आने का समय हो रहा था। इसके चलते कुंदन पाठक सुरक्षा का हवाला देते हुए गेट खोने से मना कर दिया। इससे नाराज बदमाशों ने गेटमैन कुंदन पाठक पर धारदार हथियारों से हमला बोल दिया।

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.