डीआरएम को मिली पावर, अपने अधीन रेलवे कर्मचारियों की कर सकेंगे ट्रांसफर

| September 14, 2018

रेलवे डीआरएम अब अपने अधीनस्थ कर्मचारियों के एक विभाग से दूसरे विभाग में ट्रांसफर कर सकेंगे। इसके अलावा उनकी…

रेलवे डीआरएम अब अपने अधीनस्थ कर्मचारियों के एक विभाग से दूसरे विभाग में ट्रांसफर कर सकेंगे। इसके अलावा उनकी डिवीजन भी बदल सकेंगे। रेलवे बोर्ड ने डीआरएम की शक्तियों को बढ़ाते हुए नॉन गजटेड स्टाफ के ट्रांसफर का अधिकार अब डीआरएम को दे दिया है। रेलवे बोर्ड द्वारा इस संबंध में 24 अगस्त को आदेश जारी कर दिए गए हैं।







रेलवे बोर्ड द्वारा अपने कर्मचारियों की परेशानी को दूर करने के लिए कभी ऑन लाइन शिकायत केंद्र स्थापित किए जा रहे हैं तो कभी रेल कर्मचारियों के परिजनों से संवाद कर उन्हें राहत प्रदान की जा रही है। इस कड़ी में अब रेलवे बोर्ड ने एक नया आदेश जारी किया है। इसके तहत अब नॉन गजटेड रेलवे कर्मचारी को एक विभाग से दूसरे विभाग व एक डिवीजन से दूसरी डिवीजन में ट्रांसफर कराने के लिए न तो दिल्ली हेडक्वार्टर के चक्कर काटने पड़ेंगे और न ही संबंधित अधिकारियों की खुशामद करनी पड़ेगी।



लंबी प्रक्रिया से गुजरना पड़ता था

मौजूद समय में रेलवे कर्मचारियों को ट्रांसफर के लिए पहले आवेदन देना होता था। इसके बाद उन्हें लंबी प्रक्रिया से गुजरना पड़ता था। कभी खाली पोस्ट की जानकारी तो कभी कोई औपचारिकता के लिए मंडल अधिकारियों से लेकर मुख्यालय तक दौड़ लगानी पड़ती थी।

यह हैं आदेश| रेलवे बोर्ड ने 24 अगस्त को सभी जीएम, जोनल रेलवे व प्रोडक्शन यूनिट को भेजे गए आदेश में बताया कि पैरा 231 आईआरईसी वॉल्यूम -1, पांचवां एडिशन 1985, के तहत अब डीआरएम पे-स्केल 1800/- लेवल 1 में ग्रुप डी कर्मचारी जैसे चपरासी, गैंगमैन, खलासी, अनस्किल्ड, सैमी स्किल्ड आदि कर्मचारियों का ट्रांसफर कर सकेंगे।




रेलवे कर्मचारियों की सुविधा के लिए ही रेलवे बोर्ड की तरफ से आदेश जारी किए गए हैं ताकि वह बिना किसी परेशानी के एक अच्छे माहौल में काम कर सकें। एमके मीणा, डिप्टी डायरेक्टर, रेलवे बोर्ड

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.