7th Pay Commission – Gov employees disappointed with PM’s speech on Independence Day

| August 15, 2018

नई दिल्ली। देशभर के करीब 50 केंद्रीय कर्मचारियों की नजर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण पर टिकी हुई थी, लेकिन उन्हें निराशा हाथ लगी। दरअसल, पिछले कई दिनों से खबरें आ रही थी कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 15 अगस्त को लालकिले से देशभर के लाखों केंद्रीय कर्मचारियों को सातवें वेतनमान का सौगात दे सकते हैं। केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनभोगी सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों को लागू करते हुए सैलरी में इजाफे की घोषणा का इंतजार कर रहे थे, लेकिन उनका इंतजार खत्म नहीं हुआ।








प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लाल किले से अपने भाषण में केंद्रीय कर्मचारियों के लिए कुछ नहीं कहा। लाखों लोगों की उम्मीदों पर पानी फिर गया। केंद्रीय कर्मचारियों को उम्मीद थी कि सैलरी और फिटमेंट फैक्टर को लेकर पीएम ने अपने भाषण में कुछ ऐलान कर सकते हैं, लेकिन उन्होंने न सैलेरी के बारे में कुछ कहा और ना रिटायरमेंट की उम्र को लेकर कोई चर्चा की। ऐसे में लाखों केंद्रीय कर्मचारियों को बड़ा झटका लगा है।

हालांकि जानकारों का कहना है कि केंद्रीय कर्मचारियों को मायूस होने की जरूरत नहीं है। लालकिला से पीएम द्वारा सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों को लेकर घोषणा करना सहीं नहीं होता। लालकिला इसके लिए उपयु्क्त मंच नहीं था। उम्मीद की जा रही है कि लोकसभा चुनाव के मद्देनजर जल्द ही केंद्र सरकार केंद्रीय कर्मचारियों को वेतन बढ़ोतरी को लेकर खुशखबरी दे सकती है।








जुलाई में जब सावतें वेतन आयोग की सिफारिशों को लेकर सरकार की बैठक हुई थी तो सरकार ने वेतन बढ़ोतरी या फिटमेंट फैक्टर में बदलाव को लेकर साफ-साफ कहा था कि वित्तीय स्थिति को देखकर ही फैसला किया जाएगा। लेकिन RBI के महंगाई को लेकर किए गए अनुमान के बाद केंद्रीय कर्मचारियों की पूरी उम्मीद खत्म हो गई। RBI ने अपनी चेतावनी में कहा था कि अगर HRA में बढ़ोतरी की गई तो देश में महंगाई और बढ़ेगी।

Category: News, Seventh Pay Commission

About the Author ()

Comments are closed.