Railway begins exercise to give its employees Bonus on Durga Puja

| August 12, 2018

रेलवे कर्मचारियों को दुर्गापूजा बोनस की कवायद शुरू हो गई है। इस बाबत रेलवे बोर्ड ने दोनों मान्यताप्राप्त फेडरेशन के साथ बैठक की। रेलवे बोर्ड के एडिशनल मेंबर स्टाफ और पे कमीशन के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर सहित अन्य अधिकारियों की मौजूदगी में ऑल इंडिया रेलवे मेंस फेडरेशन और नेशनल फेडरेशन ऑफ इंडियन रेलवेमेन के प्रतिनिधियों के साथ एडिशनल मेंबर स्टाफ के दिल्ली के रेल भवन स्थित चेंबर में बैठक हुई।








एआईआरएफ के प्रतिनिधियों ने बोर्ड के समक्ष मजबूती से अपना पक्ष रखा। बताया गया कि दो लाख 20 हजार से अधिक रिक्त पदों के बाद भी रेलवे ने बेहतर प्रदर्शन किया है। 1161.66 मिलियन टन फ्रेट लोडिंग की गई है, जिससे 12695.43 करोड़ की अतिरिक्त आय हुई है। यात्री आय में भी 2362.23 करोड़ की बढ़ोतरी हुई है। इसका श्रेय कर्मचारियों को है और उन्हें मिलने वाली बोनस की रकम में बढ़ोतरी होनी चाहिए। बोर्ड अधिकारियों ने फेडरेशन के सुझाव पर अमल करने की बात कही है।

केंद्र सरकार ने पहली बार पूजा बोनस को लेकर इतनी जल्द बैठक बुलाई है। इससे रेल कर्मचारियों में खासा उत्साह है। संभावना जताई जा रही है कि इस बार नियत समय पर बोनस का भुगतान होगा। पिछले वर्ष कर्मचारियों को बोनस के तौर पर 17951 रुपये मिले थे। उससे पहले 2016 में भी इतनी ही रकम हाथ लगी थी।




रेलवे अपने कर्मचारियों को दुर्गा पूजा (दशहरा) के पूर्व बोनस देने की तैयारी शुरू कर चुका है, इसके लिए उसने मंगलवार 7 अगस्त को रेलवे बोर्ड में दोनों प्रमुख फेडरेशन आल इंडिया रेलवेमैंस फेडरेशन (एआईआरएफ) व नेशनल फेडरेशन आफ इंडियन रेलवेमैन (एनएफआईआर) के पदाधिकारियों के साथ बैठक कर बोनस प्रदान करने के संबंध में प्रारंभिक चर्चा की. बैठक में एआईआरएफ के महामंत्री शिवगोपाल मिश्रा ने कहा कि जब रेलवे की आय बढ़ी है, तब रेल कर्मचाारियों को बढ़ा हुआ बोनस भी मिलना चाहिए. पिछले लगातार दो सालों से बोनस के रूप में जो राशि दी जा रही है, वह इस बार मंजूर नहीं होगी, उसे हर हाल में बढ़ाना होगा.

इस संबंध में पमरे एम्पलाइज यूनियन के महामंत्री मुकेश गालव ने बताया कि रेलवे बोर्ड के एडिशनल मेंबर स्टाफ और पे कमीशन के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर सहित अन्य अधिकारियों की मौजूदगी में एडिशनल मेंबर स्टाफ के दिल्ली के रेल भवन स्थित चेंबर में बैठक हुई. बैठक में फेडरेशन ने बोर्ड के समक्ष मजबूती से अपना पक्ष रखा.




सवा दो लाख पद रिक्त, फिर भी कमाई बढ़ी, बोनस भी बढ़े

बैठक में फेडरेशन की ओर से कहा गया कि दो लाख 20 हजार से अधिक रिक्त पदों के बाद भी रेलवे ने बेहतर प्रदर्शन किया है. 1161.66 मिलियन टन फ्रेट लोडिंग की गई है, जिससे 12695.43 करोड़ की अतिरिक्त आय हुई है. यात्री आय में भी 2362.23 करोड़ की बढ़ोतरी हुई है. इसका श्रेय कर्मचारियों को है और उन्हें मिलने वाली बोनस की रकम में बढ़ोतरी होनी चाहिए. बोर्ड अधिकारियों ने फेडरेशन के सुझाव पर अमल करने की बात कही है. केंद्र सरकार ने पहली बार पूजा बोनस को लेकर इतनी जल्द बैठक बुलाई है. इससे रेल कर्मचारियों में खासा उत्साह है. पिछले वर्ष कर्मचारियों को बोनस के तौर पर 17951 रुपये मिले थे, उससे पहले 2016 में भी इतनी ही रकम हाथ लगी थी.

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.