सात अगस्त को रेलकर्मियों के बोनस पर फैसला, कर्मचारी इस बार 35902 रूपए बोनस मिलने की उम्मीद कर रहे हैं

| August 3, 2018

कोटा| रेलकर्मियों के बोनस की राशि तय करने के लिए 7 अगस्त को एआईआरएफ व एनएफआईआर के प्रतिनिधियों की रेलवे बोर्ड के अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे। फेडरेशन का दबाव होगा कि रेलकर्मचारी को 17951 रुपये से अधिक उत्पादकता आधारित बोनस दिया जाएगा। रेलवे बोनस दुर्गा पूजा के पहले देता है। इसके लिए रेलवे बोर्ड मान्यता प्राप्त फेडरेशन के प्रतिनिधियों के साथ एक से डेढ़ माह पहले चर्चा करता है। लेकिन इस बार रेलवे बोर्ड बैठक अगस्त माह में ही कर रहा है।








बैठक में सहमति बनने के बाद कर्मचारियों के बोनस की घोषणा कर दी जाएगी। मालूम हो कि पिछले वर्ष छठे वेतन आयोग में निर्धारित न्यूनतम वेतन 7000 रूपए बोनस का निर्धारण हुआ था। इस आधार पर कर्मचारियों को 17951 रूपए बोनस दिया गया था। अब कर्मचारियों को सातवें वेतन आयोग के अनुसार न्यूनतम वेतन 18000 रूपए दिया जा रहा है। ऐसे में कर्मचारी इस बार 35902 रूपए बोनस मिलने की उम्मीद कर रहे हैं।




सात अगस्त को नयी दिल्ली में होने वाली बैठक में दोनों मान्यता प्राप्त ट्रेड यूनियन आल इंडिया रेलवेमेंस  फेडरेशन व नेशनल फेडरेशन आफ इंडियन रेलवेमेंस के महासचिव एवं अध्यक्ष शामिल होंगे।

सात अगस्त की बैठक पर कर्मचारियों की नजर:- दुर्गा पूजा के बोनस को लेकर रेलवे कर्मचारियों की नजर सात अगस्त को नयी दिल्ली में होने वाली रेलवे बोर्ड की अहम बैठक पर है। कर्मचारियों को उम्मीद है इस बार उन्हें सातवें वेतन आयोग के अनुसार बोनस मिलेगा।




वहीँ आल इंडिया रेलवेमेंस फेडरेशन के महासचिव कामरेड शिव गोपाल मिश्र ने आशा जताई है कि बोनस रेलवे कर्मचारियों का हक़ है जिसे 1974 की हडताल कर हासिल किया गया था, उम्मीद है कि सरकार बिना टकराव के रेल कर्मचारियों का हक़ देगी। अगर जरूरत पड़ी तो रेल कर्मी संघर्ष का रास्ता भी अपनाने से गुरेज नहीं करेंगे।

 

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.