Indian Railway to implement zero hours based theory in train timings

| July 11, 2018

रेलवे में फिर हीरो बनेगा लालू प्रसाद का जीरो,रेलवे के टाइम टेबल को जीरो बेस बनाने की तैयारी, लेटलतीफी दूर करने का प्रयास

ट्रेनों के आवागमन में हो रहे विलंब से आम लोगों के साथ रेल मंत्रलय तक परेशान है। ट्रेनों की लेटलतीफी के कारण हर वर्ष एक जुलाई को नई समय सारिणी जारी होती थी, लेकिन इस बार 15 अगस्त या फिर एक अक्टूबर तक इसके जारी होने की संभावना है। इस बार एक पुरानी प्रRिया रेलवे की तारणहार बन सकती है। 1जीरो बेस समय सारणी का नियम रेलवे परिचालन में लागू करने की तैयारी हो रही है। पूर्व रेल मंत्री लालू प्रसाद के कार्यकाल में ट्रेन परिचालन में जीरो ऑवर को लागू किया गया था।








इसे लेकर जल्द ही रेलवे के नीति निर्धारकों की महत्वपूर्ण बैठक नई दिल्ली में होगी। इसकी अध्यक्षता केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल करेंगे। बैठक में ट्रेनों का समय सुधारने पर जोर रहेगा। ट्रेनों को समय पर चलाने के लिए प्रीमियम ट्रेनों को शुरुआती स्टेशन से सबसे पहले चलाया जाना है। इसके पीछे मेल-एक्सप्रेस और फिर पैसेंजर ट्रेनों का परिचालन किया जाएगा। यह योजना जीरो बेस टाइम टेबल लागू करने से जुड़ी हुई है। रेलवे को उम्मीद है कि इस टाइम टेबल से 95 से 100 फीसद तक ट्रेनों के परिचालन में हो रही देरी को नियंत्रित कर लिया जाएगा।




हर ट्रेन की निगरानी: सवारी ट्रेनों से लेकर मालगाडिय़ों तक की निगरानी अब रेलवे कर रहा है। इनके परिचालन से प्राप्त डाटा का विश्लेषण कर नई समय सारणी जारी होगी। अधिकांश ट्रेनों के समय में परिवर्तन भी होगा। इस नये टाइम टेबल में ब्लॉक लेने और ट्रैक मरम्मत के लिए भी समय दे दिया जाएगा। लंबी दूरी के ट्रेनों का ठहराव समय कम होगा। कोच में जल्द पानी भरने और चालक तथा गार्ड बदलने का समय भी कम होगा। ट्रेनों पर लगे गति प्रतिबंध को हटाया जाएगा।

स्टेशन मास्टर से गार्ड तक जवाबदेह जिस स्टेशन से ट्रेन खुल रही है और अगले ठहराव तक पहुंचने में ट्रेन के लिए जो समय निर्धारित है, उसके अनुपालन में स्टेशन मास्टर, चालक, गार्ड और कंट्रोल रूम तक लगे रहते थे। यानी समय की पाबंदी पर जवाबदेही भी तय की गई थी।’>>समय पर पहुंचने की तय होगी जवाबदेही




>>रेल मंत्री रहते लालू प्रसाद यादव ने लागू की थी जीरो ऑवर प्रणालीदैनिक रूप से ट्रेन की समयबद्धता की निगरानी हो रही है। जीरो बेस प्रणाली के लिए लोको पायलट को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। इसी कारण समय सारणी प्रकाशन में इस बार देर हो रही है। राजेश कुमार, मुख्य जनसंपर्क पदाधिकारी, पूर्व मध्य रेलवे, हाजीपुर

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.