अब ट्रेन लेट होने पर अधिकारी देंगे सफाई

| June 28, 2018

अब रेलवे अधिकारी वीडियो के जरिये ट्रेन लेट होने की सफाई देंगे। खेद प्रकट करेंगे। इसके लिए प्रमुख स्टेशनों पर पूछताछ कक्ष के बाहर एलसीडी स्क्रीन लगाने के आदेश दिए गए हैं। कई ट्रेनें लंबे समय से 10 से 20 घंटे तक देरी से चल रही हैं। कई बार तो ट्रेन ही निरस्त कर दी जाती है। इससे यात्री खासी परेशानी ङोलते हैं। कई बार ट्रेनों के लेट चलने पर यात्रियों ने हंगामा तक किया। यात्रियों के हंगामे से बचने के लिए रेलवे बोर्ड चेयरमैन दफ्तर से 12 जून को सभी रेल अफसरों को पत्र भेजा गया है। इसमें कहा गया है कि सभी प्रमुख स्टेशनों के पूछताछ कक्ष में स्क्रीन लगेगी, जिसमें एक मिनट की वीडियो क्लिप दिखाई जाएगी।








ये होंगे संदेश : ‘कृपया धीरज रखें, आपका धीरज आपके भविष्य को बेहतर बनाने में मदद करेगा’। टेन लेट होने पर खेद जताने के अलावा वीडियो में यह भी कहा जाएगा कि पटरियों को दुरुस्त करने के काम से भविष्य में यात्रियों को यात्र का बेहतर अनुभव होगा। यातायात बंद रहेगा, इसकी भी जानकारी दी जाएगी।1देश में ट्रेन लेट चलने का आंकड़ा1’ 2017-18 में 29.61 फीसद मेल और एक्सप्रेस देरी से चलीं।1’ 2016-17 में 23.31 फीसद मेल व एक्सप्रेस ट्रेन देरी से चलीं।1’ चालू वित्तीय वर्ष में 44 फीसद ट्रेन देरी से चल रही हैं।1’ मुरादाबाद रेल मंडल में 48 फीसद ट्रेनें देरी से चल रही है।स्टेशन पर एलसीडी लगाने की योजना है, जिसके द्वारा अधिकारी ट्रेनों के लेट होने की जानकारी वीडियो संदेश से देंगे। 1-अजय कुमार सिंघल, मंडल रेल प्रबंधक, मुरादाबाद।




एसी लगवाने में रेलवे बोर्ड कर रहा अनदेखी – अधिकारी परेशान

रेलवे बोर्ड के चेयरमैन अश्वनी लोहानी ने दो महीने पूर्व सभी मंडल रेल प्रबंधकों को निर्देश दिए थे कि बढ़ती गर्मी को देखते हुए अब सभी के दफ्तरों में एसी की सुविधा दी जाए। लेकिन इलेक्ट्रिकल डिपार्टमेंट के अफसरों ने उसका पालन नहीं किया। इसके चलते अधिकारी गर्मी में दिन भर पसीना पोंछते रहते हैं।




एनईआर के तीनों एसीएम व नॉदर्न रेलवे के दो एसीएम्स सहित कई अधिकारियों के दफ्तरों में कूलर लगे हैं जबकि उसी स्तर के इलेक्ट्रिकल, अकाउंट व फाइनैंस जैसे डिपार्टमेंट में एसी लगाए गए हैं। आरोप है कि क्लास-टू के कई अफसरों के यहां लगाए जाने वाले एसी सीनियर अफसरों के बंगलों में लगा दिए गए हैं। हालांकि, सीनियर डीईई ने जल्द ही एसी खरीदकर लगवाने की बात कही है।

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.