Extraordinary applications put recruitment process in Railways in Jeopardy

| June 27, 2018

दो करोड़ आवेदनों से रेलवे बोर्ड के पसीने छूटे

रेलवे में एक लाख खाली पदों के लिए दो करोड़ से अधिक आवेदनों ने सरकारी मशीनरी के पसीने छुड़ा दिए हैं। खाली पदों पर भर्ती के लिए परीक्षा आयोजित कराने में देरी की आशंका के बीच सरकार ने जुलाई के पहले हफ्ते में आवेदनों की छटनी प्रक्रिया पूरी करने का दावा किया है। इसके बाद सभी रेलवे भर्ती बोर्ड (आरआरबी) में परीक्षार्थियों की सूची जारी कर दी जाएगी। .








रेल मंत्रालय ने मार्च में लगभग एक लाख रिक्त पदों को भरने के लिए अधिसूचना जारी करते समय कहा था कि दो माह बाद परीक्षा आयोजित कराई जाएगी। साथ ही प्रवेश पत्र भेजने से लेकर परीक्षा कराना और इस साल दिसंबर तक नियुक्ति पत्र देने की बात भी कही गई थी। लेकिन, रेलवे में नौकरी पाने के लिए बंपर आवेदन आने से रेलवे बोर्ड के पसीने छूट रहे है। .


रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि दो करोड़ 37 लाख 34 हजार 833 आवेदन प्राप्त हुए हैं। इनकी छटनी में अफसरों को पसीना बहाना पड़ रहा है। अधिकारी ने बताया कि जुलाई के प्रथम सप्ताह तक छटाई का काम पूरा कर लिया जाएगा। फिर सभी 20 आरआरबी अपनी वेबसाइट पर परीक्षार्थियों की सूची जारी कर देंगे। इसमें एक आरआरबी को नोडल एजेंसी बनाया जाएगा, वहीं देशभर में परीक्षा आयोजित कराएगा। इसके लिए निजी क्षेत्र की कंपनी की सहायता ली जाएगी। .

लेवल-2 के पदों में लोको पायलेट, सहायक स्टेशन मास्टर आदि की लिखित परीक्षा के अलावा मनौवैज्ञानिक परीक्षा ली जाएगी, जबकि लेवल-1 के पदों में गैंगमैन, ट्रैकमैन, प्वांइटमैन आदि की लिखित परीक्षा होने के बाद संबंधित जोन में शारीरिक टेस्ट लिया जाएगा। अधिकारी ने बताया कि लेवल-1 की देशभर में एक दिन ही परीक्षा कराई जाएगी। इसी प्रकार दूसरे चरण में लेवल-2 की देशभर में एक दिन ही परीक्षा आयोजित होगी। .




‘ जुलाई के पहले हफ्ते में आवेदनों की छटनी प्रक्रिया पूरी करने का दावा .

‘ इसके बाद सभी रेलवे भर्ती बोर्ड में परीक्षार्थियों की सूची जारी हो जाएगी.

Category: Indian Railways, News, Uncategorized

About the Author ()

Comments are closed.