ठेकेदार भ्रष्ट नहीं होते, हमारे अधिकारी उगाही करते हैं- रेलवे बोर्ड के चेयरमैन अश्विनी लोहानी की दो टूक से अफसरों में हड़कंप

| June 21, 2018

ठेकेदार या एजेंसी के लोग भ्रष्ट नहीं होते। हमारे अधिकारी बाहर उगाही करते हैं। इसी उगाही के लिए वे लोगों से मनमानी वसूली करते हैं। मेरे पास यहां की शिकायतें लगातार पहुंच रही हैं। ऐसा नहीं है कि मुझे कुछ मालूम नहीं है। बेहतर होगा उदाहरणों से सबक लें और खुद में सुधार लाएं। रेलवे बोर्ड के चेयरमैन अश्विनी लोहानी की इस दो टूक नसीहत ने रेलवे के अफसरों को सकते में डाल दिया और रेल मंडल में हड़कंप की स्थिति बन गई। हालांकि नसीहत के बीच सीआरबी ने डीआरएम शोभन चौधुरी के काम की तारीख कर एक तरह से उन्हें क्लीनचिट भी दी।







सीआरबी लोहानी मंगलवार को भोपाल दौरे पर आए हुए थे। इस दौरान हबीबगंज स्टेशन के निरीक्षण के समय उनहोंने प्लेटफार्म-1 पर जन साधारण टिकट बुकिंग सर्विस (जेटीबीएस) व्यवस्था के बारे में बात की। उनका कहना था कि जेटीबीएस की संख्या बढ़ाई जाए, ताकि आम यात्रियों को आसानी से रेल टिकट मिल सके। उन्होंने अधिकारियों से राय भी जानी कि जेटीबीएस सुविधा स्टेशन परिसर के अंदर हो या फिर परिसर के बाहर। इस पर भोपाल रेल मंडल के सीनियर डीसीएम विनोद तमोरी ने तर्क देते हुए कहा कि स्टेशन परिसर के अंदर रहेंगे तो अच्छा होगा। सीआरबी ने वजह पूछी तो सीनियर डीसीएम ने जेटीबीएस में भ्रष्टाचार होने की बात कह दी। जिस पर सीआरबी ने साफ कहा कि ऐसा नहीं होता, जेटीबीएस चलाने वाले (एजेंसी वाले ठेकेदार) भ्रष्ट नहीं होते। बल्कि हमारे ही कुछ लोग उनके पास जाते हैं, उन्हें परेशान करते हैं और उगाही करते हैं। दूसरी कुछ शाखाओं में काम करने वाले ठेकेदारों के साथ भी ऐसा होता है। वे यहीं नहीं रुके, उन्होंने अधिकारियों को सीख दी कि लोगों के पास जाओ, उनसे मिलो, उनके पास खड़े रहो तब चीजें समझ में आएंगी।




कभी नहीं खाया फ्री में खानाः ईमानदार की छवि कैसी होती है यह समझाने के लिए सीआरबी ने को खुद का उदाहरण देते हुए कहा कि वे छह साल तक मप्र पर्यटन में एमडी रहे। इस दौरान उन्होंने कभी किसी होटल में फ्री में खाना नहीं खाया। जबकि चाहते तो बिना रुपए दिए खाना खा सकते थे।

भोपाल से स्टॉलों के बारे में शिकायत क्यों मिल रही है ? सीआरबी ने सीनियर डीसीएम विनोद तमोरी से पूछा कि भोपाल में स्टॉलों से जुड़ी बहुत शिकायतें मिल रही हैं। ऐसा क्यों हो रहा है? जिस पर सीनियर डीसीएम ने कहा कि भोपाल, इटारसी व बीना में चलित ट्राली बंद कर दी थी इसलिए विरोध हुआ था।

रेलवे अस्पताल में 10 डाक्टर बढ़ाएंगे

सीआरबी निशातपुरा रेलवे अस्पताल पहुंचे। मरीज रेलकर्मियों से बात की। मरीजों ने डॉक्टर व बेड की कमी होने की बात कही। चेयरमैन ने डॉक्टरों के 10 पद बढ़ाने, जांच के लिए मशीनों की खरीदी व पैथॉलाजी स्टाफ की संख्या बढ़ाने की बात कही।




हबीबगंज के पार्किंग रेट का कुछ नहीं कर सकते

सीआरबी हबीबगंज स्टेशन पहुंचे, रीडेवलपमेंट के कामों को देखा। उन्होंने कहा कि हर हाल में 31 दिसंबर 2018 तक स्टेशन का काम पूरा कर दें। वे ऊपर स्तर पर इसी तारीख में काम पूरा होने की बात कह चुके हैं। नहीं हुआ तो उनकी बात गलत निकलेगी। अधिकारियों ने भरोसा दिलाया कि युद्घ स्तर पर काम चल रहा है। हर हाल में पूरा करेंगे। सीआरबी ने हबीबगंज के अधिक पार्किंग रेट है वे क्या करेंगे? इस पर उन्होंने हस्तक्षेप करने से मना कर दिया। उनका कहना था कि भोपाल स्टेशन पर काम जल्द पूरा करेंगे।

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.