रेलवे कर्मचारियों को प्लास्टिक के चिकित्सा कार्ड जारी होंगे

| June 17, 2018

रेलवे ने अपने कर्मचारियों और सेवानिवृत कर्मियों को मौजूदा बोझिल और जटिल चिकित्सा कार्ड से निजात दिलाने का फैसला किया है। अब रेलवे कर्मचारियों को क्रेडिट कार्ड जैसा स्वास्थ्य कार्ड जारी किया जाएगा। इस पर विशिष्ट नंबर अंकित होंगे।.

रेलवे बोर्ड के एक आदेश के मुताबिक, कर्मचारियों के साथ ही उनके सभी आश्रितों को एक अलग तरह का चिकित्सा पहचान पत्र जारी किया जाएगा। आदेश में कहा गया कि लाभार्थियों को जारी होने वाले चिकित्सा पहचान पत्र में एकरूपता लाने के लिए बोर्ड ने प्लास्टिक से बने कार्ड को स्वीकृति दी है जिनका आकार बैंक द्वारा जारी डेबिट या क्रेडिट कार्ड के समान होना चाहिए। प्रत्येक कार्ड के सबसे ऊपर एक रंगीन पट्टी होगी।.








‘ रेलवे ने क्रेडिट कार्ड जैसे स्वास्थ्य कार्ड जारी करने का फैसला किया.

‘ कर्मचारियों के साथ ही आश्रितों को भी चिकित्सा पहचान पत्र मिलेगा.

रेल विभाग ने अपने कर्मचारियों और सेवानिवृत्त कर्मियों को क्रेडिट कार्ड की तरह का मेडिकल कार्ड जारी करने का फैसला किया है। इस समय रेल विभाग जो मेडिकल कार्ड जारी करता है, वह बुकलेट जैसा होता है और वह राशन कार्ड से मिलता-जुलता है।
रेलवे बोर्ड द्वारा जारी निर्देश में कहा गया है कि आगे से जो मेडिकल कार्ड जारी किए जाएंगे, उस पर अखिल भारतीय यूनिक नंबर लिखा रहेगा। यह सभी कर्मचारियों, सेवानिवृत्त कर्मियों और उन पर आश्रित लोगों को अलग-अलग जारी किया जाएगा।




रेलवे द्वारा जारी मेडिकल पहचान पत्रों में एकरूपता लाने के लिए आगे से प्लास्टिक का बना कार्ड जारी किया जाएगा। इसका आकार-प्रकार बैंकों द्वारा जारी क्रेडिट कार्डो जैसा होगा। इस समय रेलवे में लगभग 13 लाख कर्मचारी हैं और लगभग इतने ही पेंशनभोगी हैं, जो मेडिकल कार्ड का इस्तेमाल करते हैं। इसके अलावा उनके आश्रितों को भी यह सुविधा मिली हुई है।




ऊपरी हिस्से में होगी रंगीन पट्टी
हर कार्ड के ऊपरी हिस्से में एक रंगीन पट्टी होगी। इस पट्टी से पता चलेगा कि कार्ड धारक मौजूदा कर्मचारी है या सेवानिवृत्त कर्मी है या फिर आश्रित है। कार्ड धारक की उम्र 15 वर्ष से कम होने पर पांच साल के लिए कार्ड जारी किया जाएगा और उसके बाद उसका नवीनीकरण कराना होगा। 15 वर्ष से अधिक के कार्ड धारकों को एक बार 40 साल का होने पर और दूसरी बार रिटायर होने के बाद नवीनीकरण कराना होगा।

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.