Railway to recruit retirees to save heritage

| June 14, 2018

रिटायरों को जॉब देगी रेलवे, द्वविरासत बचाने के लिए सेवानिवृत्त कर्मचारियों का लिया जाएगा सहारा योजना

भारतीय रेल अपनी विरासत को बचाए रखने के लिए अपने ‘‘पुराने साथियों’ यानी सेवानिवृत्त कर्मचारियों का सहारा लेगी। इसके लिए 65 वर्ष से कम आयु के सेवानिवृत्त कर्मचारियों की भर्ती की जाएगी। मेहनताने के रूप में इन्हें रोज 1200 रपए मिलेंगे। वरिष्ठ अधिकारी ने इसकी जानकारी दी।रेलवे बोर्ड ने भाप इंजन, पुराने डिब्बों, भाप से चलने वाली क्रेन, पुराने समय के सिग्नल, स्टेशन उपकरण और भाप से चलने वाले उपकरण जैसे विरासती वस्तुओं को संरक्षित, पुनस्र्थापित और पुनर्जीवित करने के लिए सेवानिवृत्त रेल कर्मचारियों को शामिल करने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। इसके तहत उन्हें प्रतिदिन 1200 रपए का भुगतान किया जाएगा।








रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘‘उनके पास रेलवे की विरासत के रखरखाव और मरम्मत का अनुभव है और वे नई पीढ़ी के लिए कोच के रूप में काम कर सकते हैं। यह काम आसान नहीं है, एक घड़ी, जो कि 150 वर्ष पुरानी है इतने वर्षों के बाद भी चल रही है। पुराने हाथों में वो हुनर है।’ कई वर्षों की उपेक्षा के बाद, भारतीय रेल ने अपना ध्यान एक बार फिर से अपनी विरासत के संरक्षण पर केंद्रित किया है। जोनल प्रमुखों के साथ हालिया बैठक में यह निर्णय किया गया है कि विरासती वस्तुओं के उचित संरक्षण और प्रदर्शन का सुनिश्चित करने की आवश्यकता है। जोनल रेलवे को रेलवे बोर्ड द्वारा जारी पत्र के अनुसार बोर्ड ने विभागों के प्रमुखों को अधिकतम 10 ऐसे सेवानिवृत्त कर्मचारियों की भर्ती करने का अधिकार दिया है, जिनके पास पुनरुद्धार और संरक्षण की प्रक्रिया के संबंध में परामर्श और मार्गदर्शन के लिए पर्याप्त कौशल हैं।




अधिकारियों ने कहा कि इन लोगों की तैनाती रेलवे के संग्रहालय और वर्कशाप में की जाएगी, जहां पर विरासत वाली वस्तुओं के रखरखाव की जरूरत है। उनकी भर्ती अधिकतम छह माह के लिए संविदा आधार पर होगी। साथ ही उनकी चिकित्सा स्थिति और कौशल स्तर पर विचार किया जाएगा। बोर्ड ने कहा कि सेवानिवृत्त कर्मचारियों के पारिश्रमिक को उनकी पेंशन में जोड़ने पर उनके द्वारा लिए गए अंतिम वेतन से अधिक नहीं होगा। प् उन्हें ओवर टाइम , यात्रा या दैनिक भत्ता भी नहीं दिया जाएगा।




दवेतन के रूप में इन कर्मचारियों को हर रोज मिलेंगे 1200 रपएदयोजना में शामिल होंगे 65 साल से कम उम्र वाले रिटायर रेलकर्मीदरेलवे बोर्ड ने इससे जुड़े एक प्रस्ताव को दी अपनी मंजूरीदसभी विभागाध्यक्षों को 10 कर्मचारियों की भर्ती के अधिकार मिलेदसंविदा के आधार पर छह महीने के लिए की जाएगी इनकी भर्तीदअपनी विरासत बचाने के लिए पुराने ‘‘साथियों’ का ले रही सहारा

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.