टेन में कंफर्म सीट नहीं मिली तो विकल्प भी बताएगा रेलवे

| June 1, 2018

आप जिस ट्रेन में सफर करना चाहते हैं, उसमें अगर वेटिंग लिस्ट है और उसी रूट की दूसरी टेन में सीटें उपलब्ध हैं तो उसमें आपको जगह मिल जाएगी। प्रतीक्षा सूची में शामिल यात्रियों के लिए रेलवे ने आरक्षण केंद्रों पर भी विकल्प की सुविधा शुरू करने का एलान कर दिया है। विकल्प के तहत यात्रियों को यह सुविधा भी मिलेगी, जिसमें 12 घंटे, 24 घंटे या फिर 48 घंटे के अंदर खुलनेवाली टेन का चयन कर सकेंगे। अब तक यह सुविधा ऑनलाइन बुकिंग के लिए थी, जिसका विस्तार अब ऑफलाइन यानी रेलवे के आरक्षण केंद्रों से जारी होनेवाले टिकट पर भी कर दिया गया है।1 इस सुविधा के लिए आरक्षण फॉर्म में बदलाव किया गया है।








फॉर्म में यात्रियों को विकल्प योजना का लाभ लेना है या नहीं, इसके लिए अलग से कॉलम निर्धारित है। कितनी देर बाद की टेन का चयन करना चाहते हैं, इसके लिए भी कॉलम दिया गया है। 1जागरण संवाददाता, धनबाद : आप जिस टेन में सफर करना चाहते हैं, उसमें अगर वेटिंग लिस्ट है और उसी रूट की दूसरी टेन में सीटें उपलब्ध हैं तो उसमें आपको जगह मिल जाएगी।




प्रतीक्षा सूची में शामिल यात्रियों के लिए रेलवे ने आरक्षण केंद्रों पर भी विकल्प की सुविधा शुरू करने का एलान कर दिया है। विकल्प के तहत यात्रियों को यह सुविधा भी मिलेगी, जिसमें 12 घंटे, 24 घंटे या फिर 48 घंटे के अंदर खुलनेवाली टेन का चयन कर सकेंगे। अब तक यह सुविधा ऑनलाइन बुकिंग के लिए थी, जिसका विस्तार अब ऑफलाइन यानी रेलवे के आरक्षण केंद्रों से जारी होनेवाले टिकट पर भी कर दिया गया है। इस सुविधा के लिए आरक्षण फॉर्म में बदलाव किया गया है।

फॉर्म में यात्रियों को विकल्प योजना का लाभ लेना है या नहीं, इसके लिए अलग से कॉलम निर्धारित है। कितनी देर बाद की टेन का चयन करना चाहते हैं, इसके लिए भी कॉलम दिया गया है। 1गंगा-दामोदर का विकल्प धनबाद-पटना इंटरसिटी 1धनबाद से सफर करनेवाले यात्रियों के लिए गंगा-दामोदर में विकल्प की सुविधा सुबह खुलनेवाली धनबाद-पटना इंटरसिटी एक्सप्रेस में दी गई है। यानी रात में खुलनेवाली गंगा-दामोदर में अगर कंफर्म सीट न मिले तो विकल्प के तौर पर सुबह की इंटरसिटी में खाली सीट उपलब्ध हो जाएगी।




आरक्षण फॉर्म में आधार नंबर का भी कॉलम1आरक्षण फॉर्म में आधार नंबर के लिए भी अलग से कॉलम दिया गया है। हालांकि फिलहाल आधार नंबर देना यात्रियों पर निर्भर है। इसे अनिवार्य नहीं किया गया है।यात्रियों की सुविधा के लिए विकल्प योजना की शुरुआत एक नवंबर 2015 को हुई थी। अब इसका विस्तार आरक्षण केंद्रों तक किया गया है। इससे प्रतीक्षा सूची वाले यात्रियों को सहूलियत होगी। दूसरी टेनों की खाली सीटों का उपयोग हो सकेगा।’1राजेश कुमार सीपीआरओ, पूर्व मध्य रेल 1नहीं चुकाना होगा किराए का अंतर1गंगा-दामोदर की तुलना में धनबाद-पटना इंटरसिटी का किराया थोड़ा अधिक है, पर विकल्प चुनने पर यात्रियों को अलग से राशि नहीं देनी होगी।

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.