मानव रहित रेलवे क्रॉसिंग पर अब तैनात होंगे ‘फोन मैन’

| May 30, 2018

मानव रहित रेलवे क्रॉसिंग पर अब डेडीकेटेड फोन से लैस कर्मचारियों की नियुक्ति होने जा रही है। पूर्व मध्य रेलवे के धनबाद मंडल की मानव रहित क्रॉसिंग से इसकी शुरुआत हो रही है। आपातकालीन परिस्थिति में क्रॉसिंग पर तैनात कर्मी द्वारा डेडीकेटेड यानी विशेष फोन का बटन दबाते ही स्टेशन मास्टर के पास ट्रेन को रोकने के लिए संदेश पहुंच जाएगा। पिछले दिनों उत्तरप्रदेश के कुशीनगर में मानव रहित रेलवे क्रॉसिंग पर हुए दर्दनाक हादसे के बाद रेलवे ने फिर दोहराया था कि 31 मार्च, 2020 तक देश में सभी मानव रहित फाटकों को समाप्त कर दिया जाएगा।








 पिछले साल रेलवे ने कुल 1464 मानव रहित रेलवे क्रॉसिंग (अनमैन्ड लेवल क्रॉसिंग, यूएमएलसी) को हटाया था। इससे े यानी 2014 से 2016 के बीच 890 मानव रहित क्रॉसिंग पर कर्मियों की तैनाती कर इन्हें मानव युक्त बनाया गया था। मई, 2018 की स्थिति तक देशभर में कुल 3479 मानव रहित रेलवे क्रॉसिंग मौजूद हैं। पूर्व मध्य रेलवे में अपनाई जा रही इस नई युक्ति में मानव रहित क्रॉसिंग पर तैनात कर्मचारी के पास जो फोन होगा, उसमें नंबर अंकित नहीं होंगे। क्रॉसिंग पर संकट की स्थिति देख उसे सिर्फ एक बटन दबाना होगा, जिससे नजदीकी स्टेशन मास्टर के पास मौजूद इसी तरह के फोन पर तुरंत खतरे का संकेत पहुंच जाएगा। स्टेशन मास्टर के फोन पर एक से नौ तक नंबर लिखे होंगे।




जो अलग-अलग क्रॉसिंग पर तैनात कर्मचारियों के फोन को इंगित करेंगे। इससे वह समझ जाएगा कि संदेश किस क्रॉसिंग से आया है। संदेश मिलते ही स्टेशन मास्टर उस ओर बढ़ रही ट्रेन के ड्राइवर से संपर्क कर ट्रेन को तत्काल रुकवा देगा। प्लेटफॉर्म से चलने से े भी स्टेशन मास्टर अगली क्रॉसिंग पर तैनात कर्मी से फोन पर बात करेगा। सामान्य स्थिति की सूचना मिलने पर ही ट्रेन को उस ओर रवाना होने दिया जाएगा। डेडीकेटेड फोन पर वॉइस रिकॉडिर्ंग भी हो सकेगी साथ ही सभी सूचनाओं के आदान-प्रदान का भी डेटा सुरक्षित रहेगा।




इस व्यवस्था के बाद भी कोई दुर्घटना होती है तो डेडीकेटेड फोन में दर्ज विवरणों के आधार पर यह पता लगाया जा सकेगा कि गलती किससे हुई। 1इस व्यवस्था में ट्रैक मैन को गेट मैन के रूप में मानव रहित रेलवे क्रॉसिंग पर तैनात किया जाएगा। इसके लिए उन्हें ट्रेनिंग दी जा रही है। सिग्नल एंड टेलीकॉम विभाग ने धनबाद मंडल के ट्रैक मैन को प्रशिक्षण देना शुरू किया है। पूर्व मध्य जोन में कुल 1883 क्रॉसिंग हैं। इनमें से 655 मानव रहित हैं।प्रतीकात्मक चित्र ’पूर्व मध्य रेल जोन के धनबाद मंडल के अंतर्गत कुल मानव रहित क्रॉसिंग पर नई व्यवस्था जल्द शुरू होगी। 1आशीष कुमार झा, सीनियर डीसीएम, धनबाद, झारखंड।पूर्व मध्य रेलवे के धनबाद मंडल की मानवरहित रेलवे क्रॉसिंग पर होने जा रही शुरुआत1’>>31 मार्च 2020 तक देश में सभी मानव रहित फाटक होंगे समाप्त

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.