Loco Pilots protest for their rights

| May 29, 2018

स्थानीय विद्युत लोको शेड गेट पर सोमवार को ऑल इंडिया लोको रनिंग स्टॉफ एसोसिएशन के बैनर तले गोमो डिपो के रेल चालकों ने विरोध प्रदर्शन किया। चालकों ने रेल प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। मांगों के समर्थन में आवाज बुलंद की।

रेल चालकों ने इंजन केबिन में एसी लगाने की मांग पर कहा कि जिस तरह रेल चालक 45 से 50 डिग्री सेल्सियस में ट्रेन चला रहे हैं। चालकों ने कहा कि नियम के मुताबिक रेल प्रशासन चालकों से काम नहीं ले रहा है। आठ, दस घंटे से ऊपर सोलह-सत्रह घंटे लगातार जबरन दबाव में ट्रेन चलवायी जा रही है। संरक्षा की अनदेखी कर चालकों को अधिकारी मानसिक रूप से प्रताड़ित कर रहे हैं। आज ज्यादातर चालक किसी न किसी रोग से पीड़ित हैं। चालकों ने ड्यूटी घंटे में कमी करने, इंजन में एसी व शौचालय की सुविधा करने तथा संरक्षा के तहत परिचालन कराने की मांग की। चालकों के नेता एके रउत, डीबी दीन, आरआर प्रजापति,आरके नायक आदि ने भी संबोधित किया।








भागलपुर-सहरसा स्पेशल ट्रेन मामले में लोको पायलट और सहायक पायलट निलंबित

भागलपुर-सहरसा स्पेशल ट्रेन परिचालन में लापरवाही बरतने के आरोप में लोको पायलट और सहायक लोको पायलट दोनों को निलंबित कर दिया गया है। समस्तीपुर रेल डिवीजन के डीएमई (पावर) चंद्रशेखर प्रसाद ने सहरसा के लोको पायलट श्यामसुंदर राय और सहायक लोको पायलट कुमार राहुल को निलंबित करते हुए जवाब तलब किया है। डिवीजन के सीनियर डीसीएम वीरेंद्र कुमार ने निलंबन की पुष्टि की है।




डीएमई (पावर) चंद्रशेखर प्रसाद ने बताया कि शनिवार को भागलपुर से सहरसा आ रही स्पेशल ट्रेन के अकबरनगर में रेड सिग्नल से कुछ दूर आगे बढ़ जाने के मामले में मिली जानकारी के बाद प्रथमदृष्ट्या निलंबन की कार्रवाई की गई है। मालदा डिवीजन के अधिकारियों द्वारा की जा रही इंक्वायरी रिपोर्ट के आधार पर आगे की विभागीय कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि मालदा डिवीजन के इंक्वायरी अफसर को जरूरी कागजात उपलब्ध कराने और निलंबित कर्मियों का पक्ष रखने के लिए रविवार को सहरसा से दो लोको इंस्पेक्टर सतीश चंद्र झा और आकाश कुमार पासवान भेजे गए हैं।




सहरसा के मुख्य क्रू नियंत्रक अशोक कुमार के. दोनों निलंबित कर्मियों का बायोडाटा सहित अन्य कागजात उपलब्ध कराने में जुटे हैं। उन्होंने कहा कि ट्रेन परिचालन के दौरान सिग्नल दिख रहा या नहीं लोको पायलट और सहायक लोको पायलट दोनों की जिम्मेवारी होती है इसलिए लापरवाही पर दोनों पर कार्रवाई की गई है। अकबरपुर मालदा डिवीजन में है इस कारण इंक्वायरी वहां के अधिकारी ही करते हुए रिपोर्ट करेंगे। शनिवार को भागलपुर-सहरसा स्पेशल ट्रेन रेड सिग्नल पार करने के बाद ड्राइवर ने इमरजेंसी ब्रेक लगाकर ट्रेन रोकी थी। इस कारण यह ट्रेन दुर्घटनाग्रस्त होने से बची थी।

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.