वेतन रसीद पर छपेंगे विज्ञापन, रेलवे करेगी रेल कर्मचारियों से कमाई

| May 17, 2018

मुंबई :- रेलवे ने कुछ सालों से टिकट के दामों में वृद्धि करने के बजाय कमाई के नए तरीके ढूंढे हैं। हर जोन को कमाई बढ़ाने के नए तरीके ढूंढने का निर्देश दिया जाता है। इसी कड़ी में मध्य रेलवे ने एक नई तरकीब निकाली है। मध्य रेलवे ने अपने कर्मचारियों की वेतन रसीद पर विज्ञापन छापने का फैसला किया है।








वैसे, एक ओर सरकार डिजिटल इंडिया को बढ़ावा दे रही है तो दूसरी तरफ अब तक वेतन के लिए रसीद छापना भी अपने आप में अनोखा काम है। रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि केवल वेतन रसीद ही नहीं, वातानुकूलित एक्सप्रेस में दी जाने वाली बेडशीट और नैपकिन के लिफाफों पर भी कंपनियों के विज्ञापन छपेंगे। मध्य रेलवे के मुंबई मंडल ने इस वित्तीय वर्ष में विज्ञापन के जरिए कमाई करने में प्रथम स्थान प्राप्त किया है। ऐसे में नए आयडिया को भी ‘गंभीरता’ से लिया जा रहा है।




अधिकारी के मुताबिक, होम लोन देने वाली कंपनियां वेतन रसीद पर विज्ञापन देने के लिए तैयार हैं। करीब दर्जनभर कंपनियां विज्ञापन के लिए हर साल पांच से छह लाख खर्च करने के लिए तैयार हैं। इस तरह के विज्ञापनों से रेलवे को करीब एक करोड़ रुपये की कमाई होने की संभावना है। अधिकारी के मुताबिक, यह निर्णय रेलवे की आर्थिक स्थिति सुधारने के उद्देश्य से लिया गया है। मध्य रेलवे के मुंबई मंडल में कुल 36 हजार कर्मचारी काम करते हैं और प्रशासन इन कर्मचारियों को दी जाने वाली वेतन रसीद के लिए हर साल 2.5 लाख रुपये खर्च करता है। ऐसे में इस योजना से कर्मचारियों की स्टेशनरी पर होने वाला खर्च इन विज्ञापनों से निकल जाएगा और अन्य खर्च को बचा सकेंगे।




मध्य रेलवे के मुंबई मंडल से चलने वाली लंबी दूरी की ट्रेनों के वातानुकूलित कोच में दी जाने वाली बेडशीट और नैपकिन के लिए 96 लाख लिफाफों का इस्तेमाल किया जाता है। बेडशीट और नैपकिन का लिफाफा खोलते समय यात्रियों की नजर लिफाफों पर छपे विज्ञापन की तरफ जाएगी, इस बात का ध्यान रखते हुए मध्य रेलवे ने लिफाफों पर विज्ञापन देने का निर्णय लिया है। वर्तमान में इस्तेमाल होने वाले लिफाफों की छपाई रेलवे करता है, लेकिन विज्ञापन मिलने के बाद इसका कॉन्ट्रैक्ट किसी कंपनी को दिया जाएगा।

Source:- NBT

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.