रेलवे बोर्ड ने लगाई कई पुरानी प्रथाओं पर लगाम

| May 8, 2018

रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष अश्विनी लोहानी ने पूर्व से आ रही कई प्रथाओं पर अब लगाम लगाने को लेकर सभी महाप्रबंधकों को पत्र लिखा है। साथ ही सख्त निर्देश दिया है कि जारी निर्देश का उल्लंघन करने वाले अधिकारियों व कर्मचारियों पर कार्रवाई की जाएगी। यह पत्र पैर छूने, तु व तुम कहने सहित बुक्के देकर सम्मानित करने और मीटिंग में पानी की बंद बोतलें के उपयोग करना शामिल है।








रेलवे सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार वरीय पदाधिकारी को कनीय अधिकारी व कर्मचारी पैर छूते है। साथ ही वरीय पदाधिकारी अपने कनीय अधिकारी व कर्मचारी को तु व तुम कहा करते है। वरीय अधिकारी के सामने अपने को बेहतर साबित करने के लिए रेल कर्मी ऐसा करते है। ऐसे लोगों को अपने बॉस की सेवा की बजाय ड्यूटी से इन्हे कोई लेना-देना नहीं रहता है।




वहीं अपने को लोगों के बीच बड़ा साबित करने के लिए तु व तुम शब्दों का प्रयोग करते है। वहीं बुके देकर सम्मानित करने की प्रथा पर भी रोक लगाने की योजना है। साथ ही पर्यावरण सुरक्षा को लेकर किसी प्रकार की बैठक में पानी की बंद बोतलें पर रोक रहेगी। इस दौरान जार का प्रयोग किया जाएगा। मी¨टग के समय टेबल पर पानी को ग्लास से पीने का निर्देश दिया गया है।




अन्यथा शिकायत मिलने पर संबंधित लोगों पर विभागीय कार्रवाई की जाएगी। अधिकारियों की मानें तो एक वर्ष पूर्व बोर्ड ने अधिकारियों के आवास पर चतुर्थवर्गीय कर्मचारियों के लगने वाले जमावड़े की प्रथा को खत्म करने का निर्देश दिया था। जारी निर्देश को लेकर अधिकारियों की बेचैनी बढ़ गई है। आरपीएफ इंस्पेक्टर राजकुमार ने बताया कि इस दिशा में आदेश पत्र प्राप्त हुआ है। इसे अक्षरश: पालन किया जाएगा।

Category: Indian Railways, News

About the Author ()

Comments are closed.